Home > राज्य > पंजाब > पंजाब के मंत्रियों को सांडों से खतरा, सिद्धू के बाद बलबीर बचे बाल-बाल

पंजाब के मंत्रियों को सांडों से खतरा, सिद्धू के बाद बलबीर बचे बाल-बाल

मोहाली। लगता है पंजाब के मंत्रियों पर सांडों का गुस्‍सा चढ़ा हुआ है। पिछले तीन दिनों में राज्‍य के दो मंत्रियों पर सांडों का गुस्‍सा देखने को मिला। राज्‍य के स्‍थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बाद शुक्रवार को पशुपालन मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू भी सांड के गुस्से का शिकार हाेने से बाल-बाल बच गए। मोहाली में एक कार्यक्रम के दौरान वह एक सांड के पास खड़े थे तो वह भड़क गया, लेकिन बंधा होने के कारण वह उन पर हमला नहीं कर पाया। इससे पहले बुधवार को अमृतसर में एक सांड ने नवजोत सिंह सिद्धू पर हमला करने की कोशिश की थी और सुरक्षाकर्मियों की सतर्कता से वह बाल-बाल बच गए थे।पंजाब के मंत्रियों को सांडों से खतरा, सिद्धू के बाद बलबीर बचे बाल-बाल

पशुपालन मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू शुक्रवार को मोहाली में पशुधन को गलघोंटूकी बीमारी से बचाने के लिए गोशाला में टीकाकरण अभियान की शुरुआत करने गए थे। इस दौरान वह टीका लगाने वाले वैटनरी डॉक्टर के पीछे खड़े थे। जैसे ही डॉक्टर ने एक सांड को टीका लगाया तो वह भड़क गया। वैटनरी डॉक्टर गिरते गिरते बचे। उनके पीछे खड़े मंत्री सिद्धू भी लडख़ड़ा गए। संयोग यह रहा कि सांड बंधा हुआ था, इसलिए वह पशुपालन मंत्री सिद्धू और डॉक्‍टर पर हमला नहीं कर पाया।

बता दें कि 9 मई को स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पर अमृतसर में दुर्ग्‍याणा तीर्थ के पास एक गुस्‍साए सांड ने हमला कर दिया था। सिद्धू तीर्थ में माथा टेककर और वहां चल रहे सौदर्यीकरण कार्य का जायजा लेने के बाद बाहर आए तो पत्रकारों ने उनको घेर लिया। पत्रकार उनसे सवाल पूछ ही रहे थे कि एक आवारा सांड‍ भड़क गया और सिद्धू की ओर तेजी से दौड़ा। सुरक्षाकर्मियों ने फुर्ती दिखाई और सिद्धू को पीछे खींच लिया। इससे वह बाल-बाल बच गए।

उधर पशुपालन मंत्री ने मुहिम की शुरुआत कर कहा कि राज्य में 72 लाख पशुओं को टीके लगाए जाएंगे। उन्होंने लावारिस पशुओं को भी गलघोंटू की बीमारी से बचाने को टीका लगाने के निर्देश दिए। सिद्धू ने पत्रकारों से कहा कि लालडू के पास पड़ते गांव मगरा की गोशाला को विकसित कर मार्डन बनाया जाएगा।

मोहाली के पार्कों पर खर्च होंगे पांच करोड़

पशुपालन मंत्री ने कहा कि मोहाली के पार्कों के लिए पांच करोड़ खर्च किए जाएंगे। शहर में लावारिस पशुओं पर नकेल डालने के लिए निगम व पशुपालन विभाग के मिलकर काम करने की बात भी मंत्री ने कही। पशुपालन विभाग के निदेशक अमरजीत सिंह ने कहा कि पशुओं को टीके लगाने के काम आगामी बरसात से पहले पहले पूरा कर लिया जाएगा। इसके लिए विभाग की टीमों की ओर से दिन रात काम किया जाएगा।

Loading...

Check Also

पुलवामा अातंकी हमले में शहीद हुआ उत्तराखंड का लाल, देर रात पहुंचेगा पार्थिव शरीर

पुलवामा अातंकी हमले में शहीद हुआ उत्तराखंड का बेटा, देर रात पहुंचेगा पार्थिव शरीर

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकियों की ओर से रविवार की देर शाम सीआरपीएफ कैंप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com