पंजाब सरकार चाहती है मोहाली में शुरू हो इन्फोसिस का कैंपस, नीलेकणी से मिले सिद्धू

चंडीगढ़। पंजाब सरकार माेहाली में इन्फोसिस का कैंपस शुरू करवाना चाहती है। इसके साथ ही सरकार इन्‍फोसिस की मदद से पंजाब शहरी निकायों का ई गवर्नेंस से स्‍वरूप बदलना चाहती है। इस संबंध में शहरी स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने इन्फोसिस के सह संस्थापक नंदन नीलेकणी से बेंगलुरु में बैठक की। पंजाब सरकार चाहती है मोहाली में शुरू हो इन्फोसिस का कैंपस, नीलेकणी से मिले सिद्धू

सिद्धू ने नीलेकणी के साथ पंजाब की 167 शहरी स्थानीय इकाइयों का ई-गवर्नेस से स्वरूप बदलने पर विचार-विमर्श किया। उन्होंने मोहाली में इन्फोसिस का कैंपस शुरू करने का मुद्दा भी उठाया। नीलेकणी ने कहा कि आइटी क्षेत्र की विकास दर 35 फीसद से पांच फीसद पर आ जाने के बावजूद वह इन्फोसिस के सीईओ से बातचीत करेंगे।

नीलेकणी से मिले सिद्धू, इन्फोसिस कैंपस का मुद्दा उठाया

सिद्धू ने नागरिकों को डिजिटल ढंग से सेवाएं मुहैया करवाने की महत्ता पर जोर दिया। वहीं कई अन्य पहलुओं जैसे कि लाइटिंग प्रणाली में सुधार, मच्छरों की रोकथाम, लावारिस कुत्तों की समस्या से निपटने, वेस्ट मैनेजमेंट में सुधार और सड़कों के गड्ढों पर भी चर्चा की। इन सेवाओं के संबंध में लोगों को अपनी शिकायतों के निवारण के लिए जल्द ही एक एप भी शुरू किया जाएगा। नीलेकणी ने डिजिटल व तकनीकी क्षेत्र के अपने अनुभवों के आधार पर इस बात से सहमति जताई कि इस प्रोजेक्ट को लाभप्रद बनाने के लिए सामर्थ्‍य में विस्तार बहुत जरूरी है।

गौरतलब है कि फरवरी में ई-गवर्नमेंट्स फाउंडेशन के साथ पंजाब भर की शहरी स्थानीय इकाइयों के कामकाज में ई-गवर्नेस अपनाए जाने संबंधी एक एमओयू पर भी हस्ताक्षर किए गए थे। नीलेकणी इसके संस्थापकों में से हैं। फाउंडेशन ने साल 2003 में अपने अस्तित्व में आने के बाद देश भर में 325 से ज्यादा शहरी स्थानीय इकाइयों का कायाकल्प किया है। अब पंजाब म्युनिसिपल इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कंपनी (पीएमआइडीसी) के साथ भागीदारी करके 67 सेवाएं 12 मॉड्यूल के अंतर्गत मुहैया कराने का संकल्प किया है।

सिद्धू ने बताया कि टीसीएस की ओर से 500 आइटी विशेषज्ञों की सेवाएं राज्‍य की शहरी स्थानीय इकाइयों का सामर्थ्‍य बढ़ाने के लिए ली जाएंगी। उन्होंने यह भी कहा कि हर नगर निगम के साथ 10, मध्यम स्तर की हर नगर परिषद के साथ पांच, लघु स्तर की नगर परिषद व नगर पंचायत के साथ दो आइटी विशेषज्ञ तैनात किए जाएंगे। इन्फोसिस का मोहाली में 55 एकड़ क्षेत्र में फैला एक कैंपस है जो कि अभी तक चालू नहीं हुआ है।

=>
=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

प्रेसिडेंट पुतिन ने पीएम मोदी को किया आमंत्रित, इस बार कुछ ऐसी होगी रूस यात्रा

सोची: रूस के एक बार फिर से प्रेसिडेंट बने