आरोपी AAP विधायक प्रकाश जारवाल को मिली जमानत

19 फरवरी की देर रात दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ हुई कथित मारपीट मामले में आरोपी आप विधायक प्रकाश जारवाल को राहत मिल गई है।

Prosecution granted to accused AAP MLA Prakash Jarwalविधायक प्रकाश जारवाल को दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार सुबह जमानत पर रिहा कर दिया। पुलिस ने जारवाल और विधायक अमानतुल्लाह खान को 21 फरवरी को गिरफ्तार कर दिया थ्‍ाा।

बता दें कि बृहस्पतिवार को ही तीस हजारी कोर्ट ने जारवाल और अमानतुल्लाह की न्यायिक हिरासत 22 मार्च तक के लिए बढ़ा दी थी। वहीं हाईकोर्ट ने अमानतु्ल्लाह की जमानत याचिका पर सुनवाई की तारीख 12 मार्च तय की है।
आप विधायक प्रवीण कुमार से पांच घंटे पूछताछ

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट मामले में आम आदमी पार्टी पर दिल्ली पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है। इसी कड़ी में बृहस्पतिवार को पुलिस ने जंगपुरा से आप विधायक प्रवीण कुमार से पांच घंटे पूछताछ की।

इस दौरान उनसे 100 से अधिक सवाल पूछे गए। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का कहना है कि प्रवीण ने जांच में सहयोग किया। पुलिस द्वारा पूछे गए कई महत्वपूर्ण सवालों का उन्होंने जवाब दिया है। सिविल लाइंस थाने में हुई पूछताछ के दौरान पुलिस ने पूरी पूछताछ की वीडियो रिकॉर्डिंग भी कराई।

वहीं अंबेडकर नगर के विधायक अजय दत्त पूछताछ में शामिल नहीं हुए। उन्होंने पुलिस को बताया है कि वह सोमवार को पुलिस की पूछताछ में शामिल होंगे। फिलहाल वह बंगलूरू में हैं।

बता दें कि 19 फरवरी को अंशु प्रकाश से मुख्यमंत्री के घर हुई मारपीट के मामले में पुलिस दो विधायक अमानतुल्लाह खान और प्रकाश जारवाल को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। इसके अलावा मीटिंग में मौजूद दो अन्य विधायक नितिन त्यागी और राजेश ऋषि से पुलिस ने पूछताछ की थी।

बुधवार को जांच को आगे बढ़ाते हुए दो और विधायक प्रवीण कुमार अजय दत्त को पूछताछ में शामिल होने का नोटिस दिया गया था। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि शाम करीब 4.00 बजे प्रवीण सिविल लाइंस थाने पहुंचे।

इनसे करीब पांच घंटे 9.00 बजे तक पूछताछ हुई। पुलिसकर्मियों का कहना था कि प्रवीण ने उनकी जांच की दिशा को मजबूती दी है, अब उन्हें चार्जशीट फाइल करने में आसानी होगी।

You may also like

लौटते मॉनसून की हिमाचल के बाद पंजाब में तबाही, घरों से न निकलें लोग

लौटते मॉनसून ने उत्तर भारत में एक बार