यूपी में शांति और सद्भाव के साथ पढ़ी गयी ईद-उल-अजहा की नमाज

लखनऊ। प्रदेश भर में मुस्लिमों का पवित्र त्योहार ईद-उल-अजहा (बकरीद) धूमधाम से मनाया जा रहा है। सुबह से ही बकरीद की नमाज राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के सभी शहरो में विभिन्न ईदगाहों, खानकाहों और मस्जिदों में अदा की गई। पुलिस प्रशासन विभिन्न जगहों पर तैनात है और सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था की गई है। ऐशबाग के ऐतिहासिक ईदगाह राज्‍यपाल राम नाईक पहुंचे। यहां पर उन्होंने प्रदेश वासियों को बकरीद की मुबारकबाद दी। साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी को भी किया याद।यूपी में शांति और सद्भाव के साथ पढ़ी गयी ईद-उल-अजहा की नमाज

ईद-उल-अजहा पर राज्यपाल, मुख्यमंत्री की बधाई

 ईद-उल-अजहा (बकरीद) के अवसर पर राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश वासियों को बधाई दी है। उन्होंने कहा है कि यह त्योहार सभी को मिल-जुलकर रहने और आपसी सद्भाव की प्रेरणा देता है। राज्यपाल ने अपने बधाई संदेश में कहा है कि ईद-उल-अजहा का पर्व कुर्बानी का पर्व है जो गरीबों व जरूरतमंदों की सहायता के लिए प्रेरित करता है।

विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित ने ईद-उल-अजहा की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि ईद-ए-कुर्बा का मतलब है बलिदान की भावना। इस दिन को आपसी सौहार्द, भाईचारे और हर्षोल्लास से मनाना चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी प्रदेशवासियों को इस त्योहार की बधाई देते हुए कहा कि यह पर्व लोगों में समरसता बढ़ाता है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर, रालोद प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मसूद अहमद ने बकरीद के मौके पर आपसी भाईचारा और सद्भाव बढ़ाने की कामना की।

राज्यपाल ने कहा कि बकरीद जरूरतमंदों की मदद करने का और नेकी का त्योहार है। कोई पड़ोसी भूखा न सोए इसके लिए ये त्योहार प्रेरित करता है। भारत में सभी धर्म के लोग रहते हैं, और पूरी आस्था के साथ अपने त्योहार मनाते हैं। वहीं, मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने केरल में बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए समाज के लोगों से अपील की। राज्‍यपाल ने भी बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए किए गए आह्वान की सराहना की और सीएम कोष के जरिये मदद करने को कहा। 

पुलिस सतर्क

कई जिलों को अति संवेदनशील मानकर पुलिस-प्रशासन को सतर्क किया गया है। हाल के दिनों में घटित घटनाओं से सबक लेकर 21-23 अगस्त तक पुलिस बल को मुस्तैद किया गया है। प्रशासन को अंदेशा है बकरीद के दौरान शरारती व कट्टरपंथी तत्वों द्वारा अफवाह फैलाकर जिले की शांति भंग की जा सकती है। सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर भी अफवाह फैलाने वालों की कड़ी निगरानी की जा रही है। रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड सहित संवेदनशील स्थानों पर पुलिस के जवानों व अधिकारियों की तैनाती की गई है।

दंगा निरोधी बल व रैपिड एक्शन फोर्स के अलावा दरभंगा जोन के विभिन्न जिलों से भी अतिरिक्त पुलिस बल मंगाए गए हैं। इन्हें रिजर्व में रखा गया है। तीन दिनों तक पुलिस-प्रशासन बिल्कुल स्टैंड बाय मोड में रहेगी। इससे पूर्व शांति-व्यवस्था बनाए रखने को लेकर डीएम-एसपी के नेतृत्व में लगातार फ्लैग मार्च किया जा रहा है। असामाजिक तत्वों पर कार्रवाई भी की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

राम मंदिर का समर्थन किए बगैर राहुल गांधी नहीं हो सकते सच्चे हिंदू : आचार्य सतेंद्र दास

अयोध्या: राहुल गांधी के ‘शिवभक्त’ अवतार और एक के बाद