Home > राष्ट्रीय > मेघालय-नागालैंड चुनाव के लिए मतदान जारी, तिजित में पोलिंग बूथ में धमाका

मेघालय-नागालैंड चुनाव के लिए मतदान जारी, तिजित में पोलिंग बूथ में धमाका

पूर्वोत्तर के दो राज्यों मेघालय और नगालैंड में विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग शुरू हो गई. सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो गया है. इस दौरान नगालैंड में हिंसा शुरू हो गई. नगालैंड के तिजित जिले के एक पोलिंग बूथ में कुछ अराजक तत्वों ने देसी बम से धमाका कर दिया, जिसमे एक व्यक्ति घायल हो गया.

मेघालय-नागालैंड चुनाव के लिए मतदान जारी, तिजित में पोलिंग बूथ में धमाकाइसके अलावा कई जगह पोलिंग पार्टियों पर हमले हुए. इससे पहले चुनाव आयोग ने शाम चार बजे तक वोटिंग चलने की बात कही है, जबकि नगालैंड के दूरदराज के जिलों में कुछ मतदान केंद्रों पर मतदान तीन बजे तक मतदान चलने की उम्मीद है. चुनाव परिणाम तीन मार्च को घोषित किए जाएंगे.

इसके अलावा सुबह कई स्थानों में EVM की वजह से मतदान शुरू होने में देरी हुई. मेघालय के शिलांग में EVM की वजह से देरी से मतदान शुरू हुआ. फिलहाल मतदान केंद्र में वोट डालने के लिए लोग पहुंचने लगे हैं. उत्तर शिलांग से कांग्रेस के रोशन वाजरी मौजूदा विधायक हैं.

LIVE: (खबर लगातार अपडेट की जा रही है. पेज को रिफ्रेस करते रहिए.)

– नगालैंड में चुनाव के दौरान हिंसा शुरू हो गई. पोलिंग पार्टियों को पर हमला किए गए है.

– मंगलवार को नगालैंड के मुख्यमंत्री टीआर जेलियांग ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न होगा और हमको स्पष्ट बहुमत हासिल होगा.

– तिजित जिले के एक मतदान केंद्र पर हुए देसी बम धमाके में एक व्यक्ति घायल हो गया है. सामने आई तस्वीरों में मतदान स्थल पर खून के धब्बे जमीन पर पड़े मिले हैं. साथ ही मतदान केंद्र पर धमाके से फर्नीचर भी क्षतिग्रस्त हुए हैं.

– वोटिंग के दौरान नगालैंड के तिजित टाउन विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र में धमाका हो गया. धमाके की वजह भी पता नहीं चल पाई है.

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर मेघालय और नगालैंड की जनता से ज्यादा संख्या में वोट करने की अपील की है.

दोनों राज्यों में 59-59 सीटों पर वोटिंग

मेघालय और नगालैंड में विधानसभा की 60-60 सीटें हैं. लेकिन दोनों ही सूबों में आज 59 सीटों के लिए वोटिंग हो रही है. दरअसल, मेघालय में 18 फरवरी को ईस्ट गारो हिल्स जिले में एक आईईडी विस्फोट में एनसीपी के प्रत्याशी जोनाथन एन संगमा की मौत हो जाने की वजह से विलियमनगर सीट पर चुनाव रद्द कर दिया गया है. वहीं, नगालैंड में एनडीपीपी प्रमुख नीफियू रियो को उत्तरी अंगामी द्वितीय विधानसभा सीट से निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया जा चुका है.

नगालैंड के चुनावी समीकरण

नगालैंड में बीजेपी नीफियू रियो की नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) के साथ चुनावी वैतरणी पार लगाने की उम्मीद में है. दोनों गठबंधन भागीदारों में से एनडीपीपी ने 40 और बीजेपी ने बाकी 20 सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं.

साल 1963 में नगालैंड के अस्तित्व में आने के बाद कांग्रेस ने तीन मुख्यमंत्री दिए. लेकिन वह अब केवल 18 सीटों पर लड़ रही है जबकि बीजेपी यहां 20 सीटों पर खड़ी है. फिलहाल यहां नेशनल पीपुल्स पार्टी की सरकार है.

पिछले चुनाव (2013) में एनपीपी को 38, कांग्रेस को 8, बीजेपी को 1, एनसीपी को 4 सीटें मिली थीं. जबकि 8 निर्दलीय प्रत्याशी जीतकर आए थे.

मेघालय के चुनावी समीकरण

मेघालय में 370 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं. कुल 18.4 लाख मतदाता 3,083 मतदान केंद्रों पर अपने मताधिकारों का उपयोग करेंगे. इस बार राज्य में पहली बार 67 महिला मतदान केंद्र और 61 आदर्श मतदान केंद्र बनाए गए हैं. चुनाव में 32 महिलाएं भी उम्मीदवार हैं.

मेघालय में कांग्रेस ने 59 और बीजेपी ने 47 सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं. यहां लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष पी ए संगमा के पुत्र कॉनराड संगमा की नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) और बीजेपी अलग अलग चुनाव लड़ रही हैं. लेकिन नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस (एनईडीए) में एनपीपी बीजेपी की सहयोगी है. फिलहाल यहां कांग्रेस की सरकार है. पिछले चुनाव (2013) में यहां कांग्रेस को सबसे ज्यादा 29 सीटें मिली थीं. जबकि 13 निर्दलीय प्रत्याशियों ने चुनाव जीता था.

दो सीटों पर सीएम मुकुल संगमा

मेघालय के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा के परिवार के तीन सदस्य गारो हिल्स क्षेत्र में चुनाव मैदान में हैं. मुकुल खुद दो सीटों अम्पाति और सोंगसाक से चुनाव मैदान में हैं.

असम, मणिपुर और अरूणाचल प्रदेश में सरकार बनाने से उत्साहित बीजेपी अब नगालैंड और मेघालय में अपने पांव पसारने की कोशिश कर रही है. कांग्रेस के लिए मेघालय में मिलने वाले चुनाव के परिणाम महत्वपूर्ण रहेंगे क्योंकि इस राज्य में वह बीते दस साल से सत्ता पर है. जबकि बीजेपी नगालैंड और मेघालय को अपने खाते में डालने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही है.

Loading...

Check Also

'मूर्ति पॉलिटिक्स' के जरिए शिवसेना ने साधा फडणवीस और बीजेपी सरकार पर निशाना

‘मूर्ति पॉलिटिक्स’ के जरिए शिवसेना ने साधा फडणवीस और बीजेपी सरकार पर निशाना

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में महाराष्ट्र के सीएम देवेद्र फड़नवीस पर निशाना साधा है. सामना …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com