CM योगी ने कहा- राजनीतिक दल पूर्वाग्रह छोड़कर जुड़ें स्वच्छता अभियान में

लखनऊ। प्रधानमंत्री द्वारा दिए लक्ष्य दो अक्टूबर 2018 से दो दिन पूर्व 30 सितंबर तक पूरे प्रदेश को खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) घोषित करने का लक्ष्य देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी राजनीतिक दलों से पूर्वाग्रह छोड़कर स्वच्छता अभियान में जुडऩे का आह्वान किया।CM योगी ने कहा- राजनीतिक दल पूर्वाग्रह छोड़कर जुड़ें स्वच्छता अभियान में

सोमवार को लोकभवन में स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018 और वृहद स्वच्छता अभियान का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री ने शौचालय निर्माण की गुणवत्ता बढ़ाने व उनके इस्तेमाल को आमजन की दिनचर्या में शामिल करने के लिए जनजागरूकता बढ़ाने की बात भी कही। उन्होंने पूर्ववर्ती सरकार द्वारा स्वच्छता अभियान में अधिक रुचि न लेने की ओर इशारा करते हुए कहा कि गत 15-16 महीनों में एक करोड़ तीन लाख से अधिक शौचालयों का निर्माण किया गया है।

मुख्यमंत्री का कहना था कि 25 जुलाई से 25 अगस्त तक चलाए जाने वाले वृहद स्वच्छता अभियान की सफलता तब ही संभव होगी जब समाज के सभी वर्गों की भागीदारी सुनिश्चित हो। योगी ने स्वच्छ सर्वेक्षण की महत्ता भी बतायी। उन्होंने कहा कि यूपी सबसे बड़ा प्रदेश होने के कारण पूरे देश के सर्वेक्षण को प्रभावित करेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण को प्रतिस्पर्धा के रूप में न लेकर आम दिनचर्या में शामिल कर लेना चाहिए। उन्होंने स्वच्छता से स्वास्थ्य व समृद्धि का नाता होने की बात कही।

उन्होंने कहा कि गंदगी न हो तो बीमारी न हो और समाज तेजी से तरक्की की ओर बढ़े। प्रदेश की 59 हजार से अधिक ग्राम पंचायतों में चलने वाला स्वच्छता अभियान सफल होने की उम्मीद जताते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा झाडू लेकर आरंभ किए अभियान की कुछ लोगों ने आलोचना भले ही की हो परंतु इसको विश्व स्तर पर सराहा गया।

इससे पूर्व भारत सरकार में पेयजल व स्वच्छता मंत्रालय के सचिव परमेश्वरन अय्यर ने प्रदेश सरकार की उपलब्धियों की सराहना करते हुए स्वच्छ सर्वेक्षण को सफल बनाने पर जोर दिया। पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके तिवारी ने बताया कि पहली बार हो रहे सबसे बड़े सर्वेक्षण (एक अगस्त से 30 अगस्त तक) में सर्वाधिक अंक पाने वालों को प्रधानमंत्री द्वारा दो अक्टूबर को पुरस्कृत किया जाएगा।

कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा व केशव प्रसाद मौर्य के अलावा मंत्री धर्मपाल सिंह, रीता बहुगुणा जोशी, सुरेश राणा और चेतन चौहान भी उपस्थित थे। अंत में पंचायतीराज राज्यमंत्री भूपेंद्र सिंह ने आभार जताया। संचालन निदेशक आकाशदीप ने किया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

इण्टरनेशनल एक्सपीरियन्स एक्सचेन्ज प्रोग्राम के तहत 28 को लखनऊ आएगा पेरू का छात्र दल

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस)