देश में बदली रही सियासी हवा, राहुल गांधी 2019 चुनावों के बाद बनेंगे पीएम: कैप्‍टन अमरिंदर सिंह

- in पंजाब, राजनीति

पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह काे देश में सियासी हवा बदल रही है। ऐसे में पूरी उम्‍मीद है कि 2019 के लाेकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी देश के प्रधानमंत्री बनेंगे। उन्‍हाेंने कहा कि कांग्रेस पूरी तरह से एकजुट है और राहुल के पीछे खड़ी है। हमें पूरी उम्‍मीद है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद वह प्रधानमंत्री बनेंगे। कैप्‍टन ने नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्‍तान दौरे को लेकर भी उनको राहत दी है और कहा कि वह वहां हुए घटनाक्रम के असर को नहीं समझ सके।देश में बदली रही सियासी हवा, राहुल गांधी 2019 चुनावों के बाद बनेंगे पीएम: कैप्‍टन अमरिंदर सिंह

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को यहां कहा कि कांग्रेस अगले साल होने वाले चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार है। पार्टी एकजुट है और अपने राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राहुल गांधी के पीछे खड़ी है। देश में माहौल राजनीतिक माहौल तेजी से बदला है और पूरा परिदृश्‍य बदल गया है। कैप्‍टन ने कहा कि जिस तरह की देश में स्थितियां दिख रही हैं, उससे साफ लगता है कि राहुल गांधी 2019 के लोकसभा चुनावों के बाद प्रधानमंत्री बनेंगे।

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि देश के लोगों को भाजपा की असलियत समझ में आ गई है। जनता का रुझान विपक्ष खासकर कांग्रेस की ओर है। देश में कांग्रेस और राहुल गांधी का ग्राफ तेजी से बढ़ा है। देश की जनता कांग्रेस को फिर से सत्‍ता सौंपकर राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाना चाहती है। देश की जो हालत है उससे लोगों का भाजपा से मोहभंग हो चुका है।

इसके साथ ही कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने आज अपने कैबिनेट मंत्री नवजाेत सिंह सिद्धू को उनके पाकिस्‍तान दौरे को लेकर राहत दी। उन्‍होंने कहा कि सिद्धू के पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री के तौर पर इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने में कोई गलत नहीं है। वहां हुए घटनाक्रम के कारण शर्मनाक जैसी कोई तो बात नहीं है। सिद्धू इसकी गंभीरता और असर को नहीं समझ पाए। कैप्‍टन का इशारा इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्‍तान के सेना प्रधान जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलने की ओर था।

कैप्‍टन ने कहा, मैंने सिद्धू के पाकिस्तान के सेना प्रमुख को गले लगाने का विरोध किया था। पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा हर साल 300 से ज्यादा भारतीय सेना के जवान व अन्‍य लोग मारे गए और घायल हो गए। पााकिस्‍तानी सेना को इस तरह की हरकत करने केा आदेश सेना प्रमुख से ही आता है।

अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्‍तान दौरे की चर्चा करते हुए कहा कि उनका इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में जाना ठीक था। वह इमरान के पुराने मित्र हैं और ऐसे में उनका इस मौके पर वहां जाना कतई गलत नहीं था। कैप्‍टन ने कहा, मैं शपथ ग्रहण समारोह में गुलाम कश्‍मीर के कथित राष्ट्रपति के बगल में बैठने के लिए भी उन्‍हें (सिद्धू को) दोष नहीं देता। क्योंकि, वह नहीं जानते थे कि वह गुलाम कश्‍मीर के नेता व कथित राष्‍ट्रपति हैं। यहां तक कि यह मुझे भी नहीं पता है।

संकट के दौर से गुजर रहा है पंजाब

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि पंजाब मुश्किल समय से गुजर रहा है। राज्‍य में सांप्रदायिक संघर्षों में लगभग 35,000 लोग मारे गए हैं। उन्‍होंने धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी को लेकर बनाए गए कानून की चर्चा करते हुए उन्‍होंने कहा, हमने साफ कर दिया है कि कोई भी राज्य की शांति और व्‍यवस्‍था को भंग करने के लिए धर्म का उपयोग करेगा या जिसने भी ऐसा किया है उसे कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। ऐसे लोग काेई भी हो उसे इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। बता दें कि पंजाब सरकार ने कानून बनाकर धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी करने पर 10 साल कैद की सजा का प्रावधान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

राफेल डील: कांग्रेस के आरोपों पर रक्षा मंत्री ने किया पलटवार

राफेल विमानों की खरीद को लेकर भाजपा सरकार