Home > अपराध > पुलिस को नाबालिग ने सुनाई आपबीती, माँ ने जबरन बेटी को देह व्यापार में धकेला

पुलिस को नाबालिग ने सुनाई आपबीती, माँ ने जबरन बेटी को देह व्यापार में धकेला

दिल्ली की रहने वाली एक लड़की ने अपनी ही मां पर आरोप लगाया है कि उसकी मां ने जबरन उसे देह व्यापार में धकेल दिया था जहां से किसी तरह बचकर वह पुलिस के पास पहुंची। लड़की ने आरोप लगाया है कि उसकी मां ने कथित तौर पर उसे एक महीने पहले मनाली में चल रहे सेक्स रैकेट में बेच दिया था। उसका कहना है कि मां ने उसे एक दलाल को सौंप दिया और इसके एवज में हर महीने 40,000 रुपए लिया करती थी।

लड़की ने पुलिस को बताया कि उसे एक महीने पहले दो दलाल मनाली लेकर गए और उसे जबरन देह व्यापार में घसीटा गया। शनिवार को दलाल ने उसे एक क्लाइंट के पास भेज दिया था। जहां से वह किसी तरह भाग निकली और मनाली के एक निजी अस्पताल पहुंची। यहां पहुंचकर उसने स्टाफ के एक सदस्य से मदद मांगी जिसने चाइल्डलाइन नंबर 1098 पर फोन किया।

इसके बाद पुलिस को मामले की सूचना दी गई। रविवार को भारतीय दण्ड संहिता की धारा 376 (बलात्कार), पॉक्सो एक्ट और अनैतिक व्यापार निवारण अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया गया।

कुल्लू पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री ने कहा- लड़की के बयान के आधार पर हमने मुख्य आरोपी को मनाली से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी पंजाब के जिरकपुर का रहने वाला है। उसे सोमवार को कोर्ट में पेश करने के बाद तीन दिनों की पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है।

लड़की ने खुलासा किया है कि कुछ और लड़कियों को मनाली लाकर जबरन देह व्यापार में धकेला गया है। लड़की के अनुसार कुछ पीड़ित नाबालिग भी हो सकते हैं। मंगलवार को सीआरपीसी की धारा 164 के तहत पुलिस लड़की के बयानों को रिकॉर्ड करेगी। पिछले कुछ सालों में कुल्लू पुलिस ने 9 सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया है।

Loading...

Check Also

निकाय चुनाव : विधानसभा चुनाव में दिया वोट, लेकिन इस बार वोटर लिस्ट से पूरे परिवार का नाम गायब

निकाय चुनाव : विधानसभा चुनाव में दिया वोट, लेकिन इस बार वोटर लिस्ट से पूरे परिवार का नाम गायब

उत्तराखंड नगर निकाय चुनाव के लिए राज्यभर में हो रहे मतदान में आज जिला प्रशासन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com