Home > कारोबार > PNb घोटाले से शेयर्स में लगातार गिरावट जारी, तीन सत्रों में 26 फीसद टूटा शेयर

PNb घोटाले से शेयर्स में लगातार गिरावट जारी, तीन सत्रों में 26 फीसद टूटा शेयर

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) की मुंबई-स्थित एक शाखा में 11,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का महाघोटाला सामने आने के बाद कंपनी के शेयर्स में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। पंजाब नेशनल बैंक के शेयर्स में शुक्रवार को फिर गिरावट दर्ज की गई है। गुरुवार तक बैंक के शेयर्स में 21 फीसद तक की गिरावट देखने को मिली थी। आज इसमें करीब 2.45 बजे 5.45 फीसद की और गिरावट के साथ 121.35 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। इसका दिन का उच्चतम 128.35 का स्तर और निम्तम 120.60 का रहा है जो कि इसका 52 हफ्तों का भी निम्नतम रहा है। बैंक का 52 हफ्तों का उच्चतम 231.60 का स्तर रहा है।

PNb घोटाले से शेयर्स में लगातार गिरावट जारी, तीन सत्रों में 26 फीसद टूटा शेयरपंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) की मुंबई-स्थित एक शाखा में 11,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का महाघोटाला सामने आने के बाद कंपनी के शेयर्स में गुरुवार तक बॉम्बे शेयर बाजार (बीएसई) में बैंक के निवेशकों को 8,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की चपत लग चुकी है। यह रकम बैंक के सालाना मुनाफे का छह गुना से भी ज्यादा है। गुरुवार को भी बीएसई में बैंक के शेयर 12 फीसद टूटे। गौरतलब है कि बुधवार को घोटाले की खबर आने के बाद बैंक के शेयर लगभग 10 फीसद लुढक गए थे।1दूसरी तरफ, इसी मामले में प्रवर्तन निदेशालय की जांच के दायरे में आई एक अन्य कंपनी गीतांजलि जेम्स के शेयर भी गुरुवार को 20 फीसद लुढ़क गए। इससे कंपनी के बाजार पूंजीकरण को करीब 140 करोड़ रुपये का झटका लगा।

गुरुवार के कारोबार में पीएनबी का शेयर 11.97 फीसद की कमजोरी के साथ 128.35 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुआ है। इसका दिन का उच्चतम 139.70 का स्तर और निम्नतम 125.55 का स्तर रहा है। वहीं इसका 52 हफ्तों का उच्चतम 231.6 का स्तर और निम्नतम 125.55 का स्तर रहा हैं। बैंक शेयर्स में इस गिरावट के बाद निवेशकों के करीब 6000 करोड़ रुपये डूब गए हैं।

क्या है पूरा मामला

गुरुवार को देश के सबसे बड़े बैंकिंग फ्रॉड से पर्दा उस समय उठा जब पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी)ने स्टॉक एक्सचेंज को मुंबई ब्रांच में हुए 1771.17 करोड़ डॉलर (करीब 11000 करोड़ रुपए) के फर्जी लेन देन की जानकारी दी। इस खबर के बाद एक ओर जहां वित्त मंत्रालय में हड़कंप मच गया वहीं दूसरी ओर अन्य सरकारी बैंकों पर भी इसकी आंच आने की आशंका गहराने लगी।

7 साल में हुआ इतना बड़ा घोटाला, 22700 करोड़ से ज्यादा ले भागे देश के अरबपति

कैसे हुआ घोटाला?

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में लेटर ऑफ अंडरटेकिंग का इस्तेमाल किया गया है। ज्वैलरी डिजायनर नीरव मोदी ने अपनी फर्म के आधार पर पंजाब नेशनल बैंक से ये फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग हासिल किये। फर्जी इसलिए क्योंकि न तो इसे बैंक के सेंट्रलाइज्ड चैनल से दिया गया और न ही जरूरी मार्जिन मनी नहीं थी। जारी होने के बाद इन LoUs की जानकारी स्विफ्ट कोड मैसेजिंग के जरिए सभी जगह भेज दी गई। इन LoU को नीरव मोदी ने विदेशों में अलग अलग सरकारी और निजी बैंक की शाखाओं से भुना लिया। भुनाई हुई राशि करीब 11000 करोड़ रुपए की थी।

पे ऑर्डर की तरह ही ये लेटर ऑफ क्रेडिट भी कंपनी की ओर से भुगतान न करने पर उन बैंकों में भुगतान के लिए पेश किए जाते हैं जहां से लेटर ऑफ कम्फर्ट जारी हुआ होता है। पीएनबी के पास जब यह लेटर ऑफ अंडरटेकिंग भुगतान के लिए आए तो बैंक ने इनका भुगतान करने में असमर्थता जताई। जिसके बाद इस पूरे मामले का खुलासा हुआ।

Loading...

Check Also

इस बड़ी वजह के चलते, एक बार फिर सोने में आई तेजी

देश का विदेशी पूंजी भंडार 16 नवंबर को समाप्त सप्ताह में 12.12 करोड़ डॉलर घटकर …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com