PNB महाघोटाले ने आभूषण उद्योग की बढ़ाई चिंता, लोन मिलना होगा मुश्किल

- in कारोबार

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) महाघोटाले के सामने आने के बाद से आभूषण व्यापारियों की चिंता बढ़ गई है. अरबपति हीरा व्यापारी नीरव मोदी की कंपनियों द्वारा किए गए इस महाघोटाले की वजह से आभूषण व्यापारियों और निर्यातकों को यह डर सता रहा है कि इससे उनके उद्योग (jewelery industry) को मिलने वाले लोन पर असर पड़ सकता है, क्योंकि अब कर्ज देने वाले बैंक अधिक सर्तकता बरतेंगे. अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि इस धोखाधड़ी के कारण पूरे रत्न और आभूषण उद्योग को दोषी नहीं ठहराया जाना चाहिए और न ही इस उद्योग को ‘जोखिम वाले उद्योग’ के रूप में देखा जाना चाहिए. इसके अलावा इस घोटाले के खुलासे के बाद से स्टॉक मार्केट में आभूषण उद्योग में गिरावट दर्ज की जा रही है. मालूम हो कि पंजाब नेशनल बैंक ने करीब 11 हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की बात स्वीकार की है, जिसको कथित तौर पर नीरव मोदी की कंपनियों ने अंजाम दिया है. यह धोखाधड़ी बैंक की मुंबई स्थित शाखा में की गई, जो भारत में कर्ज उपलब्ध कराने वाले बैंक की दूसरी सबसे बड़ी शाखा है.

रत्न और आभूषण निर्यात संवर्धन परिषद् (GJEPC) के क्षेत्रीय अध्यक्ष (पूर्वी क्षेत्र) प्रकाश चंद्र पिंचा ने बताया कि इस घोटाले का व्यापक असर होगा और ऋणदाताओं के दिमाग पर भी मनोवैज्ञानिक प्रभाव होगा. जब भी कोई बैंक अब इस कारोबार को कर्ज देगा, तो वह ज्यादा सतर्क होगा कि कहीं कोई धोखाधड़ी की संभावना तो नहीं है.

इस उद्योग में ऋण का प्रवाह प्रभावित होगा और उद्योग के विस्तार में देरी होगी. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि एक आदमी द्वारा किए गए घोटाले के कारण पूरे उद्योग को दोषी नहीं ठहराया जाना चाहिए. वहीं, PNB महाघोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) की ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है. शुक्रवार को ED ने PNB महाघोटाले के आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ एक और केस दर्ज किया. साथ ही देशभर में उसके 35 अलग ठिकानों पर छापेमारी की और 549 करोड़ रुपये की संपत्ति भी जब्त कर ली. मामले में अब तक कुल 5,649 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की जा चुकी है.

PNB घोटाले में फंसे बैंक कर्मचारी, एक पिता बोले बेटे को बनाया जा रहा है ‘बलि का बकरा’

शुक्रवार को ED की ओर से जिन 35 नए ठिकानों पर छापेमारी की गई है, उनमें से गोवा में दो, अहमदाबाद में सात, चंडीगढ़ में चार, कलकत्ता में एक, दिल्ली में तीन, पटना में एक, लखनऊ में चार, चेन्नई में एक, जालंधर में एक ठिकाने शामिल हैं. इसके अलावा आयकर (IT) विभाग के अधिकारियों ने मुंबई के काला घोड़ा स्थित नीरव मोदी के बूटीक के बाहर एक नोटिस भी चिपकाया है.

You may also like

छोटे व्‍यापारियों की दूर होंगी मुश्किलें, GST काउंसिल ने रिटर्न फॉर्म पर लिया यह फैसला

नई दिल्‍ली: व्‍यापारियों के लिए अच्‍छी खबर है. जीएसटी (GST)