PM मोदी ने युवाओं के लिए कही ये बड़ी बात, कहा- आज का युवा नौकरी लेने वाला नहीं, देने वाला है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए युवा उद्यमियों से बात की. मोदी ने उन उद्यमियों से बात की जिन्‍होंने स्टार्ट अप इंडिया के तहत अपना स्वरोजगार स्थापित किया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि आज हमारा युवा रोजगार मांगने वाला नहीं बल्कि रोजगार देने वाला बन रहा है. हम दुनिया के सबसे युवा देशों में से एक हैं. गौरतलब है कि मंगलवार को भी पीएम नरेंद्र मोदी ने नमो ऐप के ही जरिए आवास योजना के लाभार्थियों से बात की थी.PM मोदी ने युवाओं के लिए कही ये बड़ी बात, कहा- आज का युवा नौकरी लेने वाला नहीं, देने वाला है

PM मोदी ने कहा कि पिछले चार साल में सरकार ने युवाओं की ताकत को बढ़ाने के लिए काम किया है. स्टार्ट अप इंडिया की शुरुआत करने का मकसद युवा को शक्ति देना था. पीएम ने कहा कि पहले स्टार्ट अप सिर्फ टियर-1 सिटी में होते थे, लेकिन हमने बल दिया कि इसे टियर-2, टियर-3 में ज्यादा स्टार्ट अप हो सके.

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज देश में सिर्फ शहर नहीं बल्कि गांवों के युवा भी आगे बढ़ रहे हैं. इस दौरान उन्होंने कुछ आंकड़े भी जारी किए. उन्होंने कहा कि अभी तक जो स्टार्ट अप शुरू हुए हैं उनमें से 45 फीसदी महिलाओं के द्वारा शुरू किए गए हैं. इस दौरान प्रधानमंत्री ने देश के कई हिस्सों में युवाओं से सीधे बात की और उनके अनुभव को जाना.

देश के युवाओं को स्वरोजगार करने को प्रेरित करने के लिए पीएम मोदी ने स्टार्टअप इंडिया जैसी महत्वाकांक्षी योजना शुरू की है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने साल 2016 में ‘स्टार्टअप इंडिया’ को लॉन्च किया था. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा था, ‘जो कुछ करना चाहते हैं उनके लिए पैसा मायने नहीं रखता. जो करता है उसी को दिखता है कि क्या होने वाला है. देश का युवा जॉब क्रिएटर बने.’  

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इससे पहले भी नमो ऐप के जरिए उज्जवला योजना, मुद्रा योजना, स्किल इंडिया समेत कई अन्य योजनाओं के लाभार्थियों से बात कर चुके हैं. कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान भी पीएम मोदी ने वहां के कार्यकर्ताओं से नमो ऐप के जरिए ही बात की थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

लोअर पीसीएस-2015 के चयनितों को चार माह बाद भी नियुक्ति का इंतजार – राघवेन्द्र प्रताप सिंह

लखनऊ। एक ओर जहाँ सूबे की योगी आदित्यनाथ