31 अक्टूबर को पीएम मोदी करेंगे ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ का लोकार्पण: विजय रुपाणी

शनिवार को शुरू हुई बीजेपी कार्यकारिणी बैठक का आज दूसरा और अंतिम दिन है. इसमें 2019 के लोकसभा चुनावों को लेकर रणनीति पर चर्चा हो रही है. इस बैठक में गुजरात के मौजूदा मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने भी शिरकत की. बैठक के दौरान विजय रुपाणी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, “आज मैंने सरदार बल्लभ भाई पटेल को लेकर बड़ी घोषणा बैठक में की है. इसको लेकर एक प्रजेंटेशन दिया गया. डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई.”

31 अक्टूबर को होगा लोकार्पण

रुपाणी ने आगे कहा, “अगर पटेल ना होते तो भारत का मानचित्र अलग होता. 2013 में नरेंद्र मोदी जी ने घोषणा की थी कि दुनिया का सबसे बड़ा स्टेच्यू बनाया जाएगा. 31 अक्टूबर 2018 को दुनिया के सबसे बड़े स्टेच्यू का लोकार्पण होगा. पीएम इसका लोकार्पण करेंगे. स्टेच्यू ऑफ युनिटी स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी से दोगुना बड़ा होगा. ये एक एकता का प्रतीक है. इस स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के माध्यम से पीएम ने सरदार पटेल को बड़ी श्रद्धांजलि दी है.”

पीएम मोदी देंगे समापन संबोधन

बता दें कि शनिवार को शुरू हुई बीजेपी कार्यकारिणी बैठक का आज दूसरा और अंतिम दिन है. आज इसके समापन सत्र को पीएम नरेंद्र मोदी संबोधित करेंगे. इस बैठक में बीजेपी के राष्‍ट्रीय स्‍तर के नेता, राज्‍यों और केंद्र शासित प्रदेशों के नेता व प्रमुख कार्यकर्ता हिस्‍सा ले रहे हैं. इसमें 2019 के लोकसभा चुनावों को लेकर रणनीति पर चर्चा हो रही है.

2019 में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार: जावड़ेकर

देश में लगातार बढ़ रही पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि यूपीए के शासन में महंगाई दर 10 फीसदी थी, हमारी सरकार में यह 5 फीसदी से कम रही. बीजेपी सरकार ने अपने कार्यकाल में पूरे समाज का ध्‍यान में रखकर फैसले लिए. 2019 में फिर बीजेपी की सरकार बनेगी. उन्‍होंने कहा कि विपक्ष के पास कोई एजेंडा नहीं है, कोई नीति नहीं है और कोई रणनीति नहीं है. वे लोग सिर्फ मोदी रोको अभियान चला रहे हैं. देश के लोग उनके बारे में जानते हैं. हम 2019 में फिर से भारी बहुमत से जीतेंगे.

राजनाथ ने पेश किया विजन 2022

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने राजनीतिक प्रस्ताव पेश किया है. इसका नाम विजन 2022 है. उन्‍होंने इस प्रस्‍ताव के जरिये पीएम मोदी के नए भारत की संकल्पना रखी. प्रस्‍ताव के मुताबिक 2022 तक देश में ना कोई बेघर होगा, ना आतंकवाद होगा, ना जातिवाद और संप्रदाय बाद होगा. 2014 से बीजेपी ने 15 राज्यों में चुनाव जीते हैं और 20 राज्य में सरकार में है.

अविश्‍वास प्रस्‍ताव में हम जीते: शाह

वहीं बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने अपने अध्यक्षीय भाषण में कार्यकारिणी के सामने भविष्य की सियासी रुपरेखा को सबके सामने रखा. शाह ने भाषण की शुरुआत में अटल बिहारी वाजपेयी जी को श्रद्धांजलि दी और कहा कि उनका स्थान नहीं भर सकता वो अजातशत्रु रहे हैं. शाह ने कहा कि पिछली कार्यकारिणी बैठक के बाद कई राज्‍यों में चुनाव हुए जिसमें हम जीते. त्रिपुरा मे जीत मिली और कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी बनी. देश के 75 फीसदी भूभाग में बीजेपी की सरकार है. जनता में कोई आक्रोश नहीं था फिर भी सरकार ने अविश्वास प्रस्ताव को स्वीकार किया और बड़े नम्बर से हराया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

देशभर की निचली अदालतों में 22 लाख से ज्यादा मामले हैं लंबित

देशभर की कई अधीनस्थ अदालतों में 22 लाख