गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर अब लिफ्ट से पहुंचेगा पार्सल

- in उत्तरप्रदेश

गोरखपुर : रेल उपभोक्ताओं और कर्मचारियों के लिए राहत भरी खबर है। अब उन्हें पार्सल को लेकर परेशान नहीं होना पड़ेगा। रेलवे स्टेशन पर अब लिफ्ट से पार्सल पहुंचेगा। धर्मशाला रोड स्थित पार्सल घर से रूट रिले इंटरलाकिंग पैनल (आरआरआइ पैनल) के बीच लिफ्ट लगाई जाएगी। महाप्रबंधक राजीव अग्रवाल ने इस प्रस्ताव पर मुहर लगा दी है। लखनऊ मंडल प्रशासन ने लिफ्ट लगाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है।गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर अब लिफ्ट से पहुंचेगा पार्सल

प्लेटफार्म नंबर एक स्थित कैब-वे के पास पार्सल घर से पश्चिमी यार्ड के आरआरआइ पैनल के बीच लिफ्ट लगेगी। दोनों छोर पर सामान चढ़ाने और उतारने की व्यवस्था रहेगी। लिफ्ट के जरिये पार्सल आरआरआइ पैनल और पार्सल घर तक पहुंचते रहेंगे। आरआरआइ पैनल पर लिफ्ट से उतरा सामान ट्राली पाथ के जरिये संबंधित प्लेटफार्मो पर पहुंचेगा। इस व्यवस्था से प्लेटफार्म तीन से नौ नंबर तक रेलवे के बुक सामानों की ढुलाई आसान हो जाएगी।

दरअसल, गोरखपुर स्टेशन का विकास तो हो गया लेकिन विभागीय उदासीनता के चलते पार्सल ढोने के लिए ट्राली पाथ नहीं बन पाया। पार्सल घर प्लेटफार्म एक पर है, यहां बुक सामान एक और दो नंबर पर तो आसानी से पहुंच जाता है। लेकिन ट्राली पाथ नहीं होने से आइलैंड प्लेटफार्म (बीच वाले प्लेटफार्म) तीन, चार, पांच, छह, सात और आठ पर पार्सल पहुंचाने में रेल कर्मियों और रेल उपभोक्ताओं का पसीना छूट जाता है। प्लेटफार्म नंबर नौ पर तो धर्मशाला पुल के रास्ते आटो से पार्सल पहुंचाए जाते हैं। रास्ता न होने के कारण पार्सल न तो समय से प्लेटफार्म तक पहुंच पाते हैं और न ही ट्रेनों से उतारे गए सामान बाहर हो पाते। ऐसे में रेल उपभोक्ताओं और कर्मचारियों के बीच रोजाना किचकिच होती है। उपभोक्ताओं को जेब भी ढीली करनी पड़ती है।

रिमाडलिंग के बाद एक व दो से कट गए अन्य प्लेटफार्म

वर्ष 2013-14 में रेलवे स्टेशन का यार्ड रिमाडलिंग हुआ। इस दौरान प्लेटफार्म नंबर एक और दो को मिलाकर विश्व का सबसे लंबा प्लेटफार्म (1366.44 मीटर) तैयार कर दिया गया। लिम्का बुक आफ व‌र्ल्ड रिकार्ड के अनुसार गोरखपुर के प्लेटफार्म का नाम विश्वफलक पर तो चमक गया, लेकिन सभी प्लेटफार्मो को जोड़ने वाला ट्राली पाथ गायब हो गया। प्लेटफार्म नंबर एक और दो से तीन, चार, पांच, छह, सात, आठ और नौ पूरी तरह से कट गए। अब रेल उपभोक्ताओं और कर्मचारियों की परेशानियों को गंभीरता से लेते हुए रेलवे प्रशासन ने महाप्रबंधक के मार्गदर्शन में लिफ्ट लगाने की योजना तैयार की है।

मिल गई है लिफ्ट लगाने की अनुमति

पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी संजय यादव ने कहा कि पार्सल के लिए भी लिफ्ट लगाने की संस्तुति मिल गई है। पार्सल लिफ्ट से बुक सामानों को प्लेटफार्मो तक लाने और ले जाने में सहूलियत मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

गाँधी जयन्ती के उपलक्ष्य में सीएमएस शिक्षकों की ‘प्रभात फेरी’ 1 अक्टूबर को

कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी झंडी दिखाकर प्रभात