भगवान राम की शरण में कांग्रेस, UP में कार्यकर्ताओं को ‘रामधुन’ गाने का दिया आदेश

लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2019 के आते-आते कांग्रेस भी भगवान श्रीराम की शरण में चली गई है. पार्टी एक बार फिर सॉफ्ट हिंदुत्व कार्ड चल रही है. गुजरात चुनाव में हिंदुत्व कार्ड की झलक दिखाने के बाद अब 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में भी यहीं रणनीति अपनाए जाने की तैयारियां शुरू हो गई है. कांग्रेस ये जानती है कि उत्तर प्रदेश की सियासत में राम नाम लेकर दिल्ली की सत्ता तक पहुंचने के लिए काफी महत्वपूर्ण है. इसलिए दो अक्टूबर को उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ‘अहिंसा दिवस’ के रूप में मनाएगी. 

कांग्रेस ने सॉफ्ट हिंदुत्व कार्ड की शुरुआत गुजरात से की और अब ये कार्ड देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में भी चलने की तैयारी है. उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर ने सभी जिला स्तर की कमेटियों को चिट्ठी लिखी है कि 25 सितंबर से एक अक्टूबर तक कांग्रेस कार्यकर्ता पूरे राज्य में रामधुन गाएंगे. 

उन्होंने पत्र लिखकर कहा है कि 2 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती है. कार्यकर्ता पूरे हफ्ते अपने इलाकों में प्रभातफेरी लगाएंगे और रामधुन का जाप करेंगे. इस दौरान कार्यकर्ता शपथ भी लेंगे.

आपको बता दें कि हाल ही में कांग्रेस के मध्य प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने गाय के मुद्दे पर बीजेपी को पटखनी देने के लिए बड़ा ऐलान कर दिया. कमलनाथ ने एक सभा में कहा कि कांग्रेस सत्ता में आई तो हर पंचायत में एक गौशाला खोलेंगे और रामपथ को आगे बढ़ाएंगें. सिर्फ इतना ही नहीं कमलनाथ ने इसके बाद ट्वीट कर भी कहा कि हर पंचायत में गौशाला खोलना सिर्फ घोषणा नही बल्कि उसका वचन पत्र है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

केरल बाढ़ पीड़ितों की सराहनीय मदद हेतु यूपी पत्रकार एसोसिएशन को किया सम्मानित

लखनऊ : हाल ही में केरल में आयी