विपक्षी पार्टी ने एंटीगा के PM पर लगाया आरोप ये बड़ा आरोप कहा…

पीएनबी घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी को एंटीगा द्वारा पासपोर्ट दिए जाने के बाद कैरीबियाई द्वीप में राजनीतिक तूफान खड़ा हो गया है. यूनाइटेड प्रोग्रेसिव पार्टी के चेयरपर्सन और विपक्ष के नेता गिज़ेल इसाक ने चोकसी को मदद करने को लेकर एंटीगा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन की निंदा की है.विपक्षी पार्टी ने एंटीगा के PM पर लगाया आरोप ये बड़ा आरोप कहा...

इसाक ने कहा कि चोकसी को एंटीगा का पासपोर्ट देना “महज संयोग” नहीं हो सकता है. गिज़ेल इसाक के मुताबिक प्रधानमंत्री ब्राउन और चोकसी के बीच कोई सांठगांठ जरूर है. इसाक ने कहा, ” नागरिकता देते समय आप सिर्फ गुगल सर्च के जरिए ये पता लगा सकते थे कि चोकसी के खिलाफ जांच चल रही है. इसलिए मुझे समझ में नहीं आता कि जिम्मेदार अधिकारियों को उसके बारे में क्यों पता नहीं चला.”

आपको बता दें कि भारत एंटीगा सरकार के संपर्क में है. वहां के अधिकारियो से थल, जल या वायु मार्ग से चोकसी की आवाजाही पर रोक लगाने का आग्रह किया गया है.कहा जा रहा है कि चोकसी ने अपने कारोबार के विस्तार के लिए पिछले साल एंटीगा की नागरिकता ली थी क्योंकि कैरीबियाई देश के पासपोर्ट से 132 देशों में बिना वीजा यात्रा की जा सकती है. विपक्षी नेता ने सीएनएन-न्यूज 18 को बताया कि एंटीगा सरकार को नागरिकता देने से पहले चोकसी के पिछले मामलों को देखना चाहिए था.

उन्होंने कहा, “हमने कल प्रधानमंत्री से सुना कि चोकसी के पासपोर्ट को रद्द करना और उसे प्रत्यर्पित करना काफी मुश्किल होगा, जबकि अटॉर्नी जनरल सीधे-सीधे इससे असहमत है. ऐसी चीजें बता कर प्रधानमंत्री भारत के साथ संबंधों को खतरे में डाल रहे हैं.” गिज़ेल इसाक ने कहा “मुझे समझ नहीं आ रहा है कि आखिर क्यों कॉमनवेल्थ ट्रीटी के तहत चोकसी को प्रत्यर्पित नहीं किया जा सकता है, भारत भी इसका एक हिस्सा है.” पीएनबी घोटाले का खुलासा होने से पहले ही चौकसी देश छोड़कर भाग गया था. इसी मामले में आरोपी उसका भांजा नीरव मोदी भी फरार है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मालदीव राष्ट्रपति चुनाव में यामीन को मिली हार, भारत समर्थक इब्राहिम मोहम्मद सोलिह जीते

भारत के लिए हिंद महासागर में खास अहमियत