विपक्ष बेटियों के नाम पर कर रहा है राजनीति: रघुवर दास

पटना। झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रविवार को कहा कि देश में खानदान तंत्र की बीमारी फैल रही है। खानदान तंत्र एकजुट होकर लोकतंत्र पर कब्जा करना चाहता है, लेकिन 2019 ही नहीं बल्कि 2024 तक यह संभव नहीं है। रघुवर दास पटना के ज्ञान भवन के बापू सभागार में तेली-साहू समाज की ओर से आयोजित जनप्रतिनिधियों के सम्मान सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश में हर साल दो साल पर एक नई बीमारी का वायरस फैलता है।विपक्ष बेटियों के नाम पर कर रहा है राजनीति: रघुवर दास

2018 से एक नया रोग आया है, वह है सत्ता का रोग। विपक्ष के हर दल का मुखिया इस रोग की चपेट में है। लोकतंत्र की हत्या करने वाली पार्टी कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी, तृणमूल की ममता बनर्जी, बसपा की मायावती और सपा के अखिलेश यादव एवं उनके पिताजी मुलायम सिंह पर इस संक्रमण का प्रभाव है। ऐसा ही रोग बिहार के एक लड़के को भी लग गया है कि वह भी प्रधानमंत्री बन सकता है। रोग लगा तो बिहार का लड़का भी दिल्ली के जंतर मंतर चला गया।  इनकी बीमारी लंबी चलेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही एक व्यक्ति हैं, जो सत्ता के रोग से ग्रस्‍त नहीं हैं। 

बेटियां माफ नहीं करेंगी अपने नाम पर राजनीति

रघुवर दास ने कहा कि विपक्षी दल बेटियों के नाम पर राजनीति कर रहे हैं। ऐसे नेताओं को बेटियां माफ नहीं करेंगी। मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले पर चिंता जताते हुए रघुवर दास ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी से तेजी से जांच पूरी कराने की अपील की। कहा कि मामले की रोजाना सुनवाई कराएं और दोषियों को जल्द से जल्द कड़ी सजा दिलाएं। उन्होंने घटना के विरोध में दिल्ली में विपक्ष के कैंडल मार्च को फोटो सेशन करार दिया। कहा बिहार में हुई इस घटना के बाद दिल्ली में गंदी राजनीति देखने को मिली है। 

पार्टी ने मौका दिया, नहीं तो मैं मुखिया भी नहीं बन पाता

रघुवर ने समाज के लोगों से कहा कि मैं तो मुखिया भी नहीं बन सकता था, लेकिन पार्टी ने मुझे सीएम बनाया। उन्होंने कहा कि देश में एक चुनाव होगा लोकतंत्र का जिसमें एक साधारण व्यक्ति से लेकर चायवाला भी चुनाव लड़ सकता है। दूसरा चुनाव होगा खानदान तंत्र का जिसमें खानदान के लोग चुनाव लड़ेंगे। 2019 में खानदान तंत्र पर लोकतंत्र की जीत होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूपी: बहराइच में अब तक 70 से अधिक बच्चों की मौत, देखने पहुंचे डॉ. कफील खान अरेस्ट

उत्तर प्रदेश के बहराइच में संक्रमण के साथ