पंजाब में किया रेफरेंडम 2020 का विरोध, जलाए गए पुतले

जेएनएन, जालंधर: लंदन में सिख्स फॉर जस्टिस व अन्य कट्टरपंथी संगठनों की ओर से करवाए जा रहे रेफरेंडम- 2020 का पंजाब में कोई असर देखने को नहीं मिला। पुलिस के पुख्ता इंतजाम के चलते माहौल शांत रहा। राज्य में जगह-जगह रेफरेंडम का विरोध किया गया। जालंधर, अमृतसर, लुधियाना, पटियाला, पठानकोट व गुरदासपुर में हिंदू संगठनों ने खुलकर इसका विरोध किया।पंजाब में किया रेफरेंडम 2020 का विरोध, जलाए गए पुतले

पुलिस ने टकराव की आशंका को देखते हुए जिलों में अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात किया था। जालंधर में पुतला फूंक कर विरोध जताया गया। शिवसेना हिंद का दावा है कि 14 राज्यों के 64 जिलों में रेफरेंडम-2020 का विरोध किया गया। लुधियाना में हिंदू पंचायत के प्रमुख व शिवसेना पंजाब के राष्ट्रीय चेयरमैन राजीव टंडन की अध्यक्षता में रोष मार्च निकाला गया।

हंगामे की आशंका को देखते हुए पुलिस ने मार्च को कुछ ही दूरी पर रोक लिया। अमृतसर में राष्ट्रवादी शिवसेना की ओर से नवां कोट स्थित पार्टी कार्यालय से रैली निकाली गई। पटियाला के नाभा में शिव सेना ङ्क्षहद ने पुतला फूंका। गुरदासपुर व पठानकोट के सुजानपुर में भी शिव सेना हिंद ने रोष मार्च निकाला।

पटियाला के भादसों में उस समय स्थानीय बस स्टैंड में माहौल तनावपूर्ण हो गया, जब बड़ी संख्या में सिख जत्थेबंदियों के प्रतिनिधि इकट्ठा हुए। थाना प्रमुख हरमनप्रीत ङ्क्षसह चीमा के हस्तक्षेप से संगठनों में आपसी टकराव टल गया।

पंजाबी भाईचारा आइएसआइ के षडयंत्र का मुंहतोड़ जवाब देगा: चुग

चंडीगढ़ में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय मंत्री तरूण चुग ने कहा कि इंग्लैड में हो रहे रेफरेंडम 2020 की आड़ में षड्यंत्र रच रही आइएसआइ को पंजाबी भाईचारा मुंहतोड़ जवाब देगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की बदनाम खुफिया एजेंसी आइएसआइ की शह पर सिख फॉर जस्टिस के स्वयंभू नेता पंजाब के कुछ युवकों के समूह को बरगला रहे हैं। ये नेता पंजाब को पुन: आतंकवाद के काले दौर में धकेलने का षड्यंत्र रच रहे हैं। इसे किसी कीमत पर सफल नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने ऐसी देशद्रोही शक्तियों को असफल बनाने के लिए सभी राजनीतिक दलों, समाज सेवी व धार्मिक संस्थाओं को एकजुट होकर काम करने की अपील की। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

लोकसभा चुनाव को लेकर बागियों ने तल्ख किए तेवर, आधा दर्जन सीटों पर असर

सीटों की सुलह की खबर अभी पर्दे के