शादी के 12 घंटे बाद ही लड़की बन गयी मां, दूल्हे का जवाब सुनकर हैरान रह गए लोग

- in ज़रा-हटके

आज हम आपको एक ऐसी अनोखी घटना बताने जा रहे हैं जहां एक दुल्हन ससुराल पहुंचने से पहले ही मां बन गयी. दरअसल, शादी के बाद परिवार जालंधर से वापस राजश्थान जा रहा था और बीच में ही दुल्हन को लेबर पेन शुरू हो गया. दुल्हन को अस्पताल में भर्ती कराया गया. गुरुवार सुबह को उसने एक बच्ची को जन्म दिया. किसी भी प्रकार के विवाद को दूर रखने के लिए दूल्हा खुद अपनी पत्नी और बच्ची को लेकर वहां से चला गया.

पूछने पर कि यह सब क्या है और क्या इसकी जानकारी उसे पहले से थी इस पर दूल्हे ने कुछ नही कहा. उसने बस इतना कहा कि यह उसकी बच्ची है और उसे इस बात का कोई अफसोस नहीं है. वहीं दुल्हन ने भी इस बारे में कुछ नहीं बताया. मामले में झोल लगने की वजह से इस बात की जानकारी महिला आयोग को दी गयी. महिला आयोग ने जांच शुरू कर दी है.

दो साल पहले फिक्स हुई थी शादी

बता दें कि दूल्हा राजस्थान के भरतपुर का रहने वाला है. दूल्हे की उम्र महज 21 साल है. शादी के महज 12 घंटे के दौरान पिता बने युवक ने बताया कि 2 साल पहले उसकी सगाई हो गयी थी. जिस युवती से उसकी सगाई हुई थी वह जालंधर की रहने वाली है. इस दौरान दोनों की जान पहचान हुई और दोनों में मुलाकातों का सिलसिला शुरू हो गया. दोनों एक दूसरे से आये दिन मिलने लगे. कुछ दिनों बाद घरवालों ने उनकी शादी का डेट निकाला. 28 फरवरी को उनकी शादी फिक्स हुई. मंगलवार के दिन लड़के का परिवार अपने अन्य रिश्तेदारों के साथ जालंधर के लिए निकले.

बदनामी के डर से रिश्तेदारों से छुपकर रह रही थी लड़की

शादी की रस्में पूरी होने के बाद परिवार लड़की संग राजस्थान के लिए रवाना हो गया. लुथियाना-राजपुरा के बीच में ही उसे लेबर पेन होना शुरू हो गया. पेन बढ़ने पर उसे सिविल हॉस्पिटल करीब रात के 1 बजे एडमिट कराया गया. सुबह करीब 4 बजे लड़की ने एक बच्ची को जन्म दिया. दरअसल, लड़की शादी से पहले प्रेग्नेंट थी और अपने रिश्तेदारों से छिपकर रह रही थी ताकि यह बात सबके सामने न आये और उसकी बदनामी न हो सके.

जब डॉक्टर ने परिवारवालों से पूछा कि पहले उन्होंने लड़की का कहां चेकअप कराया है इस पर उन्होंने इंकार कर दिया. फाइल पर लिखा गया कि दुल्हन ने पहले किसी अस्पताल में अल्ट्रासाउंड या चेकअप नहीं कराया है. बच्चे को कोई नुकसान पहुंचेगा तो इसके वह खुद जिम्मेदार होंगे. दोपहर में उन्होंने हॉस्पिटल स्टाफ से दुल्हन को डिस्चार्ज करने की बात कही लेकिन अस्पताल नहीं माना. उसके बाद वह फाइल पर यह लिखकर चले गए कि वह अपनी मर्जी से जा रहे हैं.

अब इस वाकये पर लोगों की जो भी राय हो, हम तो दूल्हे को सलाम करते हैं जिसने यह जानते हुए कि लड़की गर्भवती है, उसे अपनाया और शादी करके घर ले आया. इतना ही नहीं, उन्होंने प्राइवेट अस्पताल से बेहतर सरकारी अस्पताल को समझा. वह चाहते तो बच्ची को डिलीवरी के बाद कहीं भी छोड़ सकते थे पर उन्होंने ऐसा किया नहीं.

You may also like

यहां SEX हड़ताल पर उतरी महिलाएं, कर डाली ऐसी डिमांड जिसे सुनकर पूरी दुनिया हुई हैरान..

आजतक आपने कई तरह की हड़तालों के बारे