एक बार फिर अमेरिका में दिखा ‘एलियन’, अचानक समंदर में हुआ गायब

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के एलियन्स और उड़नतश्तरियों को लेकर खुलासे के बाद अब कई सोर्स से ऐसे खुलासे हो रहे हैं जिसके चलते एलियन्स की प्रमाणिकता को लेकर दावे किए जाने लगे हैं. ओबामा के बाद अब एक खोजी फिल्ममेकर ने एक ऐसा वीडियो रिलीज किया है जिसमें इन रहस्यमयी यूएफओ को देखा जा सकता है.

इस वीडियो को फिल्ममेकर जेरेमी कोरबेल ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर डाला है.  उन्होंने इस वीडियो के कैप्शन में लिखा- अमेरिकी की नौसेना ने गोलाकार शेप के यूएफओ और एडवांस ट्रांस मीडियम व्हीकल की तस्वीरें ली हैं और वीडियो बनाई हैं. इनमें से कुछ फुटेज आप यहां देख सकते हैं. इनका कोई मलबा नहीं मिला है. 

इस वीडियो में देखा जा सकता है कि ये रहस्यमयी यूएफओ कुछ देर के लिए उड़ता नजर आता है और फिर समंदर में समा जाता है. इस वीडियो को सैनडिएगो के कॉम्बेट इंफॉर्मेशन सेंटर के पास बनाया गया था. इसे अमेरिकी नौसेना ने साल 2019 में शूट किया था हालांकि जेरेमी के पोस्ट करने के बाद ये काफी वायरल हो रहा है. 

ट्विटर पर अब तक 10 लाख से ज्यादा लोग इस वीडियो को देख चुके हैं. उन्होंने लिखा कि हमें पता नहीं है कि इस मामले में अमेरिकी नौसेना का क्या कहना है लेकिन हम पूरे आत्मविश्वास के साथ कह सकते हैं कि ये घटना वाकई एक रहस्यमयी घटना थी और इस मामले को पूरी गंभीरता के साथ जांच किए जाने की जरूरत है. 

हालांकि इस मामले में अमेरिकी एस्ट्रोफिजिसिस्ट और साइंस कमेंटेटर नील टायसन ने भी अपना पक्ष रखा है. उन्होंने जेरेमी के वीडियो को इंस्टाग्राम पर शेयर किया और लिखा कि इस तरह की घटनाओं से इंसानों की साइकोलॉजी को लेकर कई तरह की चीजें पता चलती हैं. चूंकि हमें पता नहीं है कि आसमान में उड़ती हुई चीज क्या है तो हम उसे एलियन्स बता देते हैं.

उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में आगे कहा कि यूएफओ में यू का मतलब होता है वो रहस्यमयी चीज जिसकी पुष्टि ना हुई हो.  ऐसे में हर रहस्यमयी चीज एलियन्स नहीं हो सकती है. ऐसे में जब तक चीजें कंफर्म ना हो जाएं, हमें इसे सनसनीखेज बनाने से बचना चाहिए बल्कि एलियन्स पर फोकस करने के बजाए ये कहना चाहिए कि ये कुछ भी हो सकता है

एनबीसी न्यूज के अनुसार, यूनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ डिफेंस ने कंफर्म किया है कि इस वीडियो को एक नौसेनिक ने ही बनाया था. इस फुटेज को अब पेंटागन की एक स्पेशल टास्क फोर्स जांच करेगी. इस फोर्स का निर्माण पिछले साल ही किया गया है और इसे खासतौर पर रहस्यमयी यूएफओ की जांच के लिए तैयार किया गया है. 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button