जज के. जोसेफ ने कहा, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ कि सरकार ने सिफारिश को नामंजूर किया हो

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम की सिफारिश को सरकार द्वारा वापस करने का मुद्दा लगातार तूल पकड़ता जा रहा है. इस बार खुद सुप्रीम कोर्ट के जज के. जोसेफ ने कहा कि ऐसा पहले कभी नहीं हुआ जब किसी सरकार ने कॉलेजियम की सिफारिश को वापस किया हो. उत्तराखंड हाई कोर्ट के जज केएम जोसेफ की सुप्रीम कोर्ट में पद्दोन्नति की सिफारिश को सरकार द्वारा लौटाए जाने पर सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ जज के. जोसेफ ने यह प्रतिक्रिया दी है.जज के. जोसेफ ने कहा, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ कि सरकार ने सिफारिश को नामंजूर किया हो

उन्होंने कहा कि इस मामले में अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी, क्योंकि अभी कॉलेजियम की बैठकें चल रही हैं. पत्रकारों से बात करते हुए जस्टिस के. जोसेफ ने कहा कि न्यायपालिका के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि सरकार ने कॉलेजियम की सिफारिशों पर अपनी असहमति प्रकट की हो.

अंबानी की बेटी बनाने जा रही इस परिवार की बहू, मुकेश-नीता के सामने किया प्रपोज

बता दें कि 10 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम में उत्तराखंड हाई कोर्ट के जज केएम जोसेफ और सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ अधिवक्ता इंदु मल्होत्रा को सुप्रीम कोर्ट का जज बनाए जाने की सिफारिश सरकार से की थी. केंद्र सरकार ने इंदु मल्होत्रा को नाम को तो मंजूरी दे दी, लेकिन केएम जोसेफ की सिफारिश को फिर से विचार करने की बात कहते हुए लौटा दिया था. सीजेआई दीपक मिश्रा की अध्यक्षता में कॉलेजियम में जस्टिस जस्ती चेलमेश्वर, रंजन गोगोई, मदन बी लोकुर और के. जोसेफ सदस्य हैं.

=>
=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बड़ा झटका: दिग्विजय से छिना आंध्र का प्रभार, ओमन चांडी को मिली जिम्मेदारी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आंध्र प्रदेश के