एनएसयूआई ने छात्र आयोग और छात्र न्यायालय स्थापित करने की मांग की

- in राजस्थान, राज्य

कांग्रेस के अग्रिम संगठन एनएसयूआई ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव लड़ने की आयु सीमा 21 वर्ष करने,बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने,छात्र आयोग की स्थापना और प्रदेश एवं राष्ट्रीय स्तर पर छात्र न्यायालय की स्थापना की मांग की है ।

जयपुर के मानसरोवर में सोमवार से शुरू हुए एनएसयूआई के दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन “इंकलाब ” के पहले दिन बेरोजगारी भत्ते,छात्र न्यायालय और छात्र आयोग बनाए जाने की मांग को लेकर आंदोलन करने की रणनीति पर चर्चा हुई ।

सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए राज्यसभा में प्रतिपक्ष के नेता गुलाब नबी आजाद ने कहा कि छात्र और युवा ही देश की रीढ़ की हड्डी है । युवा अपने हक के लिए,देश निर्माण के लिए कभी संघर्ष में पीछे नहीं हटते हैं ।युवा वर्ग को आगे बढ़ाने के लिए दीर्घकालीन नीति की जरूरत बताते हुए आजाद ने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस और यूपीए सरकार द्वारा बनाई गई योजनाओं को केन्द्र की मोदी सरकार ने ठंडे बस्ते में डाल दिया गया ।

युवाओं को हर साल 15 लाख नौकरी देने का वायदा ठंडे बस्ते में डाल दिया गया । अब युवाओं को अपना हक लेने के लिए आगे आना होगा । एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान ने कहा कि देश में छात्रों को छात्रवृति समय पर नहीं मिलने के कारण छात्रों को पढ़ाई में काफी मुश्किल हो रही है । शैक्षणिक कर्ज और रोजगार की उपलब्धता मे कमी के कारण छात्र और युवा वर्ग प्रताड़ित हुआ महसूस कर रहा है ।

इस मौके पर महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव, पूर्व केन्द्रीय मंत्री भंवर जितेन्द्र सिंह,पंजाब के सांसद गुरजीत सिंह और राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट ने संबोधित किया ।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

समान विचार-समान विकास ही प्रदेश की तरक्की का आधार: सीएम राजे

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने समान विचार-समान