अब ताकत के लिए गाय-भैंस नहीं कॉक्रोच का दूध आ गया है बाजारों में

- in ज़रा-हटके

दुनिया में वैसे तो दूसरे देशों में तरह-तरह के खान-पान का चलन है, अजीबों-गरीब ट्रेंड के लिए यह लोग हमेशा चर्चा में रहते है, लेकिन इस बार चर्चा का जो विषय है वो थोड़ा ज्यादा ही अजीब है. आपने गाय-भैंस के दूध के बारे में तो सुना ही होगा. इसके साथ ही आपने बकरी और ऊँट के दूध के बारे में भी सुना होगा, लेकिन अब चर्चा सुपरफूड कॉक्रोच मिल्क की हो रही है. सुनने में जरूर अजीब लगेगा लेकिन यह सच है वैज्ञानिकों ने इस बारे में ताज़ा शोध की है. आइये बताते है इस सुपरफूड के बारे में और क्या है वैज्ञानिकों की शोध. 

हाल ही में इंटरनेशनल यूनियन ऑफ क्रिस्टलोग्राफी ने एक रिपोर्ट पब्लिश की है. एक रिसर्ज में पता चला है कि कॉक्रोच के शरीर के भीतर मिल्क क्रिस्टल पाए जाते है, ये मिल्क क्रिस्टल बेबी कॉक्रोच का खाना होता है, ठीक वैसे ही जैसे हर माँ अपने बच्चों को दूध पिलाती है. इस रिसर्ज की सबसे ख़ास बात जो है वो यह है कि यह मिल्क क्रिस्टल इंसानों के लिए काफी फायदेमंद होते है. 

वैज्ञानिकों की माने तो कॉक्रोच के अंदर पाए जाने वाले मिल्क क्रिस्टल में गाय के दूध से चार गुना ज्यादा प्रोटीन होता है वहीं हम रोजाना जिस भैंस के दूध का सेवन करते है उससे तीन गुना ज्यादा प्रोटीन. इन क्रिस्टल्स में अमीनो एसिड होता है, जो सेल्स और शरीर को स्वस्थ रखने वाले लिपिड्स को तेजी से बढ़ाते है जिससे हमें साधारण खाने से ज्यादा ऊर्जा मिलती है, साथ ही इसमें शरीर को ऊर्जा देने वाले जरुरी शुगर भी होते है. 

चलिए ये तो हो गई शोध की बात लेकिन कुछ लोग सोच रहे होंगे की आखिर इसका सेवन कैसे किया जाता है. तो आइए आपको बताते है. दरअसल वैज्ञानिक इन मिल्क क्रिस्टल को टेबलेट्स में तब्दील कर रहे है. शोधकर्ताओं का इस बारे में दावा है कि सौ कॉक्रोच से एक टेबलेट्स बनाई जा सकती है, जो जल्द ही मार्केट में आ सकती है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

चलती ट्रेन में लड़की से हुआ एकतरफा प्यार, और फिर तलाशने के लिए करना पड़ा ये काम

कहते है कि प्यार पहली नजर में ही