नो टेंशन, अब ऑनलाइन कीजिए सब्‍जी आर्डर, मिनटों में पहुंच जाएगी आपके घर

सुपौल। डिजिटल इंडिया का प्रभाव बिहार के पिछड़े इलाके कोसी में भी देखा जा रहा है। यहां के युवा भी अब ऑनलाइन स्‍टार्टअप कर रहे हैं और कामयाब भी हो रहे हैं। सुपौल के रहने वाले तीन युवकों ने शहर में सब्जियों का ऑनलाइन कारोबार इसी साल 22 जनवरी से शुरू किया है। ऑर्डर बुक होने के 30 मिनट के अंदर उपभोक्ताओं तक सामग्री पहुंचाने का दावा करनेवाले इस सब्जी बाजार में न्यूनतम 39 रुपये का ऑर्डर बुक कराना होता है।

Loading...

नो टेंशन, अब ऑनलाइन कीजिए सब्‍जी आर्डर, मिनटों में पहुंच जाएगी आपके घर10 फरवरी से फलों की बिक्री की योजना है और पूरे जिले में आपूर्ति करने की तैयारी है। फिलहाल शहर में कहीं से फोन कर सब्जी मंगाई जा सकती है। नकद भुगतान करें या कार्ड से यह उपभोक्ता की सुविधा पर है।

स्थानीय वार्ड नंबर 12 के मुकेश और सिंटू भाई हैं और वार्ड नंबर 17 निवासी संतोष सिंटू का दोस्त है। इन्हीं युवकों ने यह कारोबार शुरू किया है। इनका कार्यालय नया नगर में है।

सिंटू बताते हैं कि पूणे में एमबीए करने के दौरान वहां के दोस्त बिहार को पिछड़ा कहकर मजाक उड़ाते थे। कहते थे कि पढ़ लो, कमाने तो बाहर ही जाना पड़ेगा। यह बात इन्‍हें नागवार गुजरी। इसलिए अपने गांव-घर में ही रहकर कुछ अलग करने का मन बनाया। पढ़ाई पूरी करने के बाद अपने दोस्त संतोष से बात कर सुपौल में ही ऑनलाइन सब्जी बाजार चलाने लगे।

ऑनलाइन सब्‍जी बाजार को लोग पसंद कर रहे हैं। काफी ऑर्डर आ रहा है। लोग फोन कर भी ऑर्डर देते हैं या फिर ऑनलाइन भी बुक कराते हैं। ऑर्डर के अनुसार घर पर डिलेवरी दी जाती है। लोग कैश भी पेमेंट देते हैं और कार्ड से भी। युवाओं ने ग्राहकों के लिए कई तरह के ऑफर भी दिये हैं। मसलन 15 दिनों के अंदर पांच सौ की खरीदारी पर 50-200 तक कैशबैक है। अगर कोई ग्राहक 60 दिनों में कम से कम 35 दिन भी खरीदारी करते हैं तो एक निश्चित उपहार उन्हें दिया जाएगा।

संतोष ने बताया कि अभी 50 तरह की सब्जी सिर्फ शहर में आपूर्ति की जा रही है, लेकिन 10 फरवरी से फल भी मुहैया करवाया जायेगा। भविष्‍य में 105 तरह की सब्जी के कारोबार का विस्तार पूरे जिले में किया जाएगा।

इन युवकों द्वारा किए जा रहे इस कारोबार की क्षेत्र में काफी चर्चा है। लोग कहते मिल जाते हैं कि अब गूगल पर सुपौल सब्जी बाजार सर्च कर ऑनलाइन सब्जी मंगाईए।

 
Loading...
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com