एनएफएल करेगी प्लांटों में 1250 करोड़ का निवेश

- in कारोबार

नई दिल्ली। खाद बनाने वाली सरकारी कंपनी नेशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड (एनएफएल) अगले दो साल में 1250 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। निवेश की यह राशि कंपनी के एक नए प्लांट की स्थापना और मौजूदा प्लांटों में ऊर्जा संरक्षण उपायों पर खर्च होगी। इसके अलावा कंपनी का अल्जीरिया में संयुक्त उद्यम के तहत एक डीएपी प्लांट लगाने की भी योजना है।एनएफएल करेगी प्लांटों में 1250 करोड़ का निवेश

एनएफएल बड़े पैमाने पर अपने कार्यक्षेत्र में विस्तार की योजनाओं पर काम कर रही है। कंपनी के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मनोज मिश्र ने बताया कि कंपनी तेलंगाना के रामगुंडम में बंद पड़ी एक यूरिया इकाई में फिर से उत्पादन शुरू करने की संभावनाएं तलाश रही है। इस इकाई को ईआइएल, एफसीआइएल और राज्य सरकार के साथ संयुक्त उपक्रम के तहत शुरू किया जाएगा।

इस पर 5300 करोड़ रुपये की लागत आने का अनुमान है। मिश्र ने कंपनी के नतीजों का एलान करते हुए संवाददाताओं को बताया कि 2017-18 में कंपनी ने 8928 करोड़ का रिकॉर्ड टर्नओवर अर्जित किया है। कंपनी के फिलहाल देश में 5 प्लांट हैं। तीन राज्यों में फैले इन प्लांटों में क्षमता का 118 फीसद इस्तेमाल करके कंपनी ने बीते वित्त वर्ष में 38.1 लाख टन यूरिया का उत्पादन किया। कंपनी के नंगल, भटिंडा और पानीपत प्लांट में ऊर्जा संरक्षण उपायों पर 650 करोड़ खर्च होने का अनुमान है। मिश्र ने बताया कि रामगुंडम प्लांट को शुरू करने के लिए कंपनी अपने हिस्से के 218.69 करोड़ रुपये का निवेश कर चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

माल्या जैसे कर्ज ना चुकाने वालों पर नकेल कसेगी मोदी सरकार, उठाया बड़ा कदम

नई दिल्ली । कर्ज ना चुकाने वाले (डिफॉल्टर) प्रमोटरों