इंडोनेशिया भूकंप में अब तक 98 की मौत की सामने आयी खबर

इंडोनेशिया के लोमबोक द्वीप में आए भीषण भूकंप से मरने वालों की संख्या 98 तक पहुंच गई है वहीं सैकड़ों लोग घायल हैं. इसी जगह 29 जुलाई को भी ज़बरदस्त भूकंप आया था, जिसमें 16 लोगों की मौत हो गई थी. डोनेशिया की राष्ट्रीय आपदा एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुरवो नुग्रोहो ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि उत्तरी लोमबोक में बड़े पैमाने पर क्षति पहुंची है.इंडोनेशिया भूकंप में अब तक 98 की मौत की सामने आयी खबर

कई जिलों में आधे से ज्यादा घर बर्बाद हो गए हैं और कइयों को क्षति पहुंची है. दोपहर तक भी कई इलाकों तक पहुंचा नहीं जा सका क्योंकि टूटे हुए सेतुओं और मलबे से पटी सड़कों की वजह से बचाव अभियान में परेशानी हो रही है. नुग्रोहो ने बताया कि मरने वालों की संख्या 98 तक पहुंच गई है. उन्होंने पहले भी बताया था कि मरनेवाले लोगों की संख्या निश्चित रूप से बढ़ सकती है.

इस भूकंप की वजह से 230 लोग गंभीर रूप से घायल हैं. हज़ारों घरों और इमारतों को क्षति पहुंची है और 20,000 लोग अस्थायी आश्रय स्थलों में रह रहे हैं. बचावकर्ता मकानों, मस्जिदों और स्कूलों के मलबे में फंसे लोगों की तलाश में जुटे हैं. रविवार को आए इस भूकंप की तीव्रता 6.9 थी, जिससे पर्यटकों सहित स्थानीय लोग भी घबरा गए और अफरा-तफरी मच गई.

पड़ोसी द्वीप बाली में भी इसके झटके महसूस किए गए. भूकंप के बाद भी कई झटके महसूस किए गए जिनमें से सबसे शक्तिशाली भूकंप की तीव्रता 5.3 थी. भूकंप के कारण कई इलाकों में बिजली चली गई. कहा जा रहा है कि कई घायलों का इलाज अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों के बाहर चल रहा है क्योंकि इमारतें क्षतिग्रस्त हो गई हैं.

भूकंप के बाद सुनामी की चेतावनी जारी कर दी गई थी, जिसके बाद डरे हुए लोग अपने घरों से निकलकर ऊंचे स्थानों पर जाने लगे. बाद में सुनामी की चेतावनी हटा ली गई. भूकंप के बाद छोटी-छोटी लहरें ही उठी थीं. उत्तरी लोमबोक जिले के प्रमुख नजमुल अख्यार के अनुमान के मुताबिक क्षेत्र का करीब 80 फीसदी हिस्सा बर्बाद हो गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

भारत ने रोहिंग्याओं के लिए बांग्लादेश को राहत सामग्री प्रदान की

भारत ने हिंसा के कारण म्यामांर छोड़कर बांग्लादेश में शरणार्थी