वॉशिंगटनः अमेरिकी विदेश विभाग ने कहा है कि सरकार हीरा कारोबारी नीरव मोदी के अमेरिका में होने से जुड़ी खबरों से अवगत है, लेकिन इनकी पुष्टि नहीं कर सकता है. विदेश विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि हम हालिया मीडिया रिपोर्ट से अवगत हैं कि नीरव मोदी अमेरिका में है लेकिन इनकी पुष्टि नहीं कर सकते हैं.

यह पूछे जाने पर कि क्य नीरव मोदी का पता लगाने के लिए विदेश विभाग भारत सरकार को सहयोग प्रदान कर रहा है? प्रवक्ता ने कहा कि नीरव मोदी की जांच के संदर्भ में भारतीय अधिकारियों को कानूनी सहयोग प्रदान करने करने को लेकर आप कानून विभाग से संपर्क कर सकते हैं. अमेरिकी विदेश विभाग ने मोदी पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. गौरतलब है कि पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) से 12,000 करोड़ रुपये से अधिक की कथित धोखाधड़ी के मामले में मोदी और उसके मामा मेहुल चोक्सी और कुछ अन्य लोग जांच का सामना कर रहे हैं.

लुकआउट नोटिस जारी

इससे पहले हीरा व्यापारी नीरव मोदी और गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चोकसी से संबंधित पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाला मामले में ब्यूरो ऑफ इमीग्रेशन ने हीरा व्यापारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया है. इससे पहले विदेश मंत्रालय ने नीरव मोदी और मेहुल चौकसी का पासपोर्ट निलंबित कर दिया था और इनके विदेश के आउटलेट्स पर भी कारोबार न करने का आदेश दिया था.

जांच में सहयोग नहीं कर रहा नीरव मोदी

हालांकि नीरव मोदी सीबीआई जांच में सहयोग से इनकार कर चुका है. सीबीआई ने मोदी को दो अरब डॉलर के कथित घोटाले में उसके समक्ष पेश होने को कहा था. नीरव मोदी ने अपनी कामकाजी व्यस्तता का हवाला देने हुए सीबीआई के समक्ष पेश होने में असमर्थता जताई. इसके बाद एजेंसी ने मोदी को अधिक कड़ा पत्र जारी कर अगले सप्ताह उसके समक्ष पेश होने को कहा है.