पाक के पूर्व PM नवाज शरीफ की सेहत में सुधार होते ही फिर भेजा गया जेल

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की तबियत बिगड़ने के चलते उन्हें जेल से बाहर लाया गया था, लेकिन अब नवाज शरीफ की सेहत में सुधार हो गया है और आज उन्हें फिर से अस्पताल से आडियाला जेल भेज दिया गया. नवाज शरीफ का इलाज इस्लामाबाद के पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (पीआईएमएस) के हार्ट सेंटर में चल रहा था. रविवार को अचानक ही जेल में नवाज शरीफ की तबियत बिगड़ गई थी जिसके बाद सरकार के आदेश पर उन्हें पाकिस्तान के सबसे बड़े अस्पताल में भर्ती कराया गया था.पाक के पूर्व PM नवाज शरीफ की सेहत में सुधार होते ही फिर भेजा गया जेल

नवाज के सीने में दर्द की शिकायत थी. डॉक्टर्स ने विभिन्न जांच की जिसके बाद उनकी सेहत में सुधार हो गया. नवाज की सेहत में सुधार के बाद उन्हें वापिस से जेल भेजने का फैसला लिया गया. सूत्रों की मानें तो खुद नवाज ने ही वापिस जेल जाने की इच्छा जताई थी क्योंकि शुरुआत में ही वो अस्पताल जाने के लिए तैयार नहीं थे. नवाज को उनकी जेल में कैद बेटी और दामाद ने अस्पताल जाने के लिए मनाया था जिसके बाद वो राजी हो गए थे.

नवाज को सुरक्षा के कड़े इंतजाम के साथ फिर से जेल भेज दिया गया है. पंजाब प्रांत के गृह मंत्री शौकत जावेद ने बताया था कि, नवाज शरीफ का इलाज विदेश में कराने का कोई भी सुझाव नहीं दिया गया है ऐसा उनकी मेडिकल रिपोर्ट में लिखा था. इतना ही नहीं शौकत जावेद ने तो नवाज के इलाज के लिए उन्हें लंदन भेजने की अफवाहों को भी ख़ारिज कर दिया था.

डॉक्टर्स की मानें तो, नवाज शरीफ की ब्लड प्रेशर और ईसीजी की रिपोर्ट भी सामान्य आई थी. 68 वर्षीय नवाज शरीफ तीन बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रहे हैं. नवाज और उनकी बेटी मरियम क्रमश: दस और सात साल की सजा काट रहे हैं. नवाज और मरियम को लंदन के चार आलिशान फ्लैटों की मिल्कियत से जुड़े मामले में 6 जुलाई को दोषी ठहराया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

भारत ने रोहिंग्याओं के लिए बांग्लादेश को राहत सामग्री प्रदान की

भारत ने हिंसा के कारण म्यामांर छोड़कर बांग्लादेश में शरणार्थी