दून में नेशनल लॉ स्कूल, केदारनाथ में वाइफाई चौपाल

- in उत्तराखंड, राज्य

देहरादून: निजी यात्रा पर उत्तराखंड आए केंद्रीय कानून एवं सूचना-प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राज्य को दो नई सौगात का एलान किया। उन्होंने कहा कि शैक्षिक हब के रूप में पहचान बना चुके देहरादून में नेशनल लॉ स्कूल की स्थापना की जाएगी। साथ ही केदारनाथ में बेहतर कनेक्टिविटी के मद्देनजर ‘वाई-फाई चौपाल’ स्थापित होगी। दून में नेशनल लॉ स्कूल, केदारनाथ में वाइफाई चौपाल

उन्होंने कहा कि बदरीनाथ में भी कनेक्टिविटी की दिक्कतें दूर कराई जाएंगी। केंद्रीय मंत्री ने केंद्र के उस फैसले का समर्थन किया, जिसके तहत विषय विशेषज्ञ संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी के पदों पर नियुक्त किए जाएंगे।  केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद मंगलवार को बदरीनाथ व केदारनाथ में दर्शन करने के बाद प्रदेश भाजपा कार्यालय में पार्टीजनों से रूबरू हुए। इस दौरान संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि देहरादून में नेशनल लॉ स्कूल के बारे में मुख्यमंत्री से चर्चा हो चुकी है। 

इसी कड़ी में राज्य के उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉ.धन सिंह रावत से भोपाल, जोधपुर समेत अन्य नेशनल लॉ स्कूलों का अध्ययन करने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि देश में बड़ी संख्या में कॉमन सर्विस सेंटर को वाई-फाई चौपाल में तब्दील किया गया है। केदारनाथ में भी कनेक्टिविटी की दिक्कत है। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए वहां भी वाईफाई चौपाल स्थापित करने के लिए संचार विभाग को निर्देश दिए गए हैं। 

उन्होंने बताया कि देश में 121 करोड़ लोगों के आधार कार्ड बन चुके हैं, जिसमें निजता का पूरा ध्यान रखा गया है। अब ड्राइविंग लाइसेंस भी आधार से जोड़ा जा रहा है। इसके लिए केंद्रीय परिवहन मंत्री से बात चल रही है। 

एक सवाल पर उन्होंने कहा कि राष्ट्र निर्माण के लिए विभिन्न क्षेत्रों के विषय विशेषज्ञों को संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी के पदों पर नियुक्ति का केंद्र का फैसला ऐतिहासिक है। पूर्व पीएम मनमोहन सिंह भी पहले राजीव गांधी सरकार में मुख्य आर्थिक सलाहकार थे, जबकि वह आइएएस नहीं थे। विशेषज्ञ के तौर पर तब उनकी सेवाएं ली गई थीं। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों के ऐसे ही दायरे को केंद्र सरकार आगे बढ़ा रही है। 

बेबुनियाद आरोप लगाना बंद करें राहुल 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर लगाए गए आरोपों के संबंध में पूछने पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पूर्व में राहुल के पिता, दादी व परदादा ने भी संघ की आलोचना की। बावजूद इसके संघ बढ़ता गया और भाजपा आज सत्ता में है। 

लिहाजा, राहुल को अतीत से सबक लेते हुए राष्ट्रवादी संगठन पर बेबुनियाद आरोप लगाने से बाज आना चाहिए। सोनिया, माया व ममता आगे आएं तीन तलाक से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि यह पूजा, धर्म व इबादत का नहीं, बल्कि नारी न्याय, गरिमा व समानता का मुद्दा है।

उन्होंने कहा कि विपक्ष इसे लेकर वोट की राजनीति कर रहा है। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी, मायावती व ममता बनर्जी नारी सशक्तीकरण से जुड़े इस मुद्दे पर आगे क्यों नहीं आतीं।

देवभूमि से मिला है अगाध प्रेम 

केंद्रीय कानून एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद को देवभूमि उत्तराखंड से विशेष लगाव है। प्रदेश भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं से मुलाकात के दौरान उन्होंने इसे जाहिर भी किया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 2007 में उन्हें भाजपा के उत्तराखंड प्रभारी का दायित्व मिला। तब उन्हें यहां से जो स्नेह व प्यार मिला, वह अविस्मरणीय है। 

उन्होंने केदारनाथ व बदरीनाथ धामों का जिक्र करते हुए कहा कि यह दोनों सनातनी परंपरा के उज्ज्वल स्वरूप व संवाहक हैं। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री प्रसाद ने केंद्र सरकार के चार साल की उपलब्धियों पर भी रोशनी डाली। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने फैसले लेने की हिम्मत दिखाई है। जो काम होना है तो वह होगा, जो नहीं तो फिर नहीं। 

उन्होंने कहा कि इन चार सालों में मोदी ने दुनिया में भारत का मान बढ़ाया है। विकास का नया मॉडल पेश किया है। उन्होंने कहा कि साहसिक निर्णयों की कोई कमी नहीं है। फिर चाहे वह सर्जिकल स्ट्राइक हो अथवा नोटबंदी। उन्होंने केंद्र की तमाम योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी।

इससे पहले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, राज्यमंत्री डॉ.धन सिंह रावत, विधायक खजानदास समेत अन्य पार्टी नेताओं ने केंद्रीय मंत्री प्रसाद का स्वागत किया। कार्यक्रम में भाजपा के प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल, पूर्व मंत्री विजय बड़थ्वाल, महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष नीलम सहगल, मीडिया प्रभारी डॉ.देवेंद्र भसीन, सह मीडिया प्रभारी बलजीत सोनी व शादाब शम्स समेत काफी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी में सुबह 4 बजे आया 3.2 तीव्रता का भूकंप, 3.2 रही भूकंप की तीव्रता

आज तड़के उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में भूकंप