राम जन्मभूमि निर्माण न्यास के नाम पर सामने अाया BJP नेता से ठगी का मामला

चंडीगढ़। शहर के नामचीन उद्योगपति एवं भाजपा नेता गिरधारी लाल जिंदल से अयोध्या के श्री राम जन्मभूमि निर्माण न्यास के नाम पर छह लाख रुपये ठगी का मामला सामने आया है। ठगी के आरोपितों ने भाजपा नेता गिरधारी लाल जिंदल को छह लाख रुपये देने की एवज में बड़ा सम्‍मान दिलाने का झांसा दिया।राम जन्मभूमि निर्माण न्यास के नाम पर सामने अाया BJP नेता से ठगी का मामला

चंडीगढ़ के भाजपा नेता व उद्योगपति गिरधारीलाल जिंदल से छह लाख रुपये ठगे

बताया जाता है कि उनको राष्ट्रपति से सम्मानित करवाने, उन्हें श्री राम जन्मभूमि निर्माण न्यास आयोध्या संस्थान का हरियाणा का प्रदेशाध्यक्ष बनाने और उन्हें एक लग्जरी गाड़ी व गनमैन आदि दिलाने का झांसा भी दिया। उनसे छह लाख रुपये चेक के जरिए लिए गए। जब भाजपा नेता गिरधारी लाल जिंदल को पता चला कि उनसे धोखधड़ी हुई है, उन्होंने सेक्टर-31 पुलिस थाना में इसकी शिकायत दी। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ भादसं की धारा-420 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, चंडीगढ़ के ही एक निवासी ने भाजपा नेता गिरधारी लाल जिंदल को  दिल्ली के ललित पार्क लक्ष्मी नगर के गंगा अपार्टमेंट निवासी विजेंद्र कुमार से मिलाया था। पुलिसको दी शिकायत में कहा गया है कि आरोपित विजेंद्र कुमार ने गिरधारी लाल जिंदल को झांसा देकर अयोध्‍या के श्री राम जन्मभूमि निर्माण न्यास के नाम पर छह लाख रुपये का चेक ले लिया।

दिया बड़ा सम्‍मान दिलाने का झांसा, चंडीगढ़ पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की

पुलिस को दी शिकायत में जिंदल ने कहा है कि आरोपित विजेंद्र कुमार ने उनको बड़ा सम्‍मान दिलाने सहित कई  वायदे किए। जिंदल को इस फ्रॉड के बारे में तब पता चला जब उन्होंने भाजपा के ही एक अपने मित्र से इस संस्थान के बारे में पूछताछ की। केस के आईओ रोहित कुमार ने बताया कि आरोपित ने श्री राम जन्म भूमि निर्माण न्यास, अयोध्य के नाम पर एक फर्जी संस्था तैयार की हुई थी। आरोपित ने संस्था का बैंक अकाउंट भी खोल कर रखा था। इसी बैंक अकाउंट के नाम पर आरोपित ने गिरधारी लाल जिंदल से चेक लिया था।

पीएम मोदी और उत्तर प्रदेश के सीएम से भी मिलाने की बात कही थी

पुलिस के मुताबिक आरोपित ने संस्था के नाम पर जब गिरधारी लाल जिंदल से पैसे लिए थे, तब उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री से भी मिलाने का वादा किया था। इसके साथ ही उसने राष्ट्रपति से सम्मानित करवाने, उन्हें श्री राम जन्मभूमि निर्माण न्यास आयोध्या संस्थान का हरियाणा का प्रदेशाध्यक्ष बनाने और उन्हें एक लग्जरी गाड़ी व गनमैन आदि दिलाने का झांसा भी दिया था।

पंजाब, हरियाणा, यूपी और दिल्ली में कई ठगी हो चुकी हैं

चंडीगढ़ पुलिस के मुताबिक श्री राम जन्म भूमि निर्माण न्यास, अयोध्या के नाम पर पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में भी कई लोगों से ठगी हो चुकी है। इस बारे में स्थानीय पुलिस तफ्तीश कर रही हैं। बताया जाता है कि अयोध्या में इसको लेकर कई बार संस्थानों ने स्थानीय सरकार और केंद्र सरकार को भी मंदिर बनाए जाने के नाम पर लोगों से पैसों की ठगी को रोकने के लिए कई बार मांग पत्र सौंपा है।

कहां से शुरू हुआ धोखाधड़ी का पूरा खेल

पुलिस को जिंदल द्वारा दी गई शिकायत के अनुसार भाजपा नेता गिरधारी लाल जिंदल से धोखाधड़ी का पूरा खेल चंडीगढ़ के शिव मानस मंदिर से शुरू हुआ। आरोपित विजेंद्र कुमार शिव मानस मंदिर के चेयरमैन व भाजपा के वरिष्ठ नेता बाल कृष्ण कपूर के संपर्क में था। कुछ दिनों पहले ही विजेंद्र कुमार यहां आया था। आरोपित ने भाजपा नेता बाल कृष्ण कपूर से मंदिर के निर्माण पर सहयोग दिए जाने के लिए पैसों की मदद मांगी।

पुलिस के अनुसार, इस पर बाल कृष्ण कपूर ने भाजपा नेता व नामचीन उद्योगपति गिरधारी लाल जिंदल से मिलाया। गिरधारी लाल ने अपने दोस्त बाल कृष्ण कपूर के भरोसे पर आरोपित विजेंद्र कुमार को चेक दे दिया। बालकृष्ण कपूर ने बताया कि दिल्ली में नीति आयोग के पास विजेंद्र कुमार और एक अन्य शख्स पवन कुमार राय ने इस संस्थान के किसी महंत को इसके बाद थाली भेंट करने के लिए 11 लाख रुपये की भी मांग की थी। इस पर भी गिरधारी लाल जिंदल राजी हो गए थे, लेकिन समय रहते हुए आरोपित विजेंद्र कुमार के धोखाधड़ी का खेल सामने आ गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

ओडिशा पहुंचा चक्रवाती तूफान, मौसम विभाग ने राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश की दी चेतावनी

चक्रवाती तूफान ‘डे’ ने ओडिशा में दस्तक दे