Home > बड़ी खबर > नायडू बोले- न्याय की आस में BJP के साथ किया था गठबंधन

नायडू बोले- न्याय की आस में BJP के साथ किया था गठबंधन

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के सौतेले व्यवहार पर कटाक्ष किया। विधानसभा में बोलते हुए उन्होंने पीएम मोदी को उस टिप्पणी की याद दिलाई जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस ने सफलतापूर्वक बच्चे तेलंगाना को जन्म दिया लेकिन उसकी मां (आंध्र प्रदेश) को मार दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र राज्य के फंड को रोक रहा है। मैं 29 बार मोदी से राज्य का हाथ थामने की गुहार लगाने के लिए दिल्ली गया लेकिन उसका कोई फायदा नहीं हुआ। नई राजधानी को विकसित करने के लिए फंड, पोलावरम प्रोजेक्ट और विशाखापत्तनम के लिए हुए वादे अब तक पूरे नहीं हुए हैं।

 

नायडू बोले- न्याय की आस में BJP के साथ किया था गठबंधननायडू ने यह भी कहा कि आंध्र प्रदेश विभाजन ऐक्ट के तहत किए गए सभी 19 वादों का सम्मान होना चाहिए। राज्यपाल के संबोधन का जवाब देते हुए उन्होंने कहा- टीडीपी और भाजपा का गठबंधन था। इसके बावजूद केंद्र ने राज्य के प्रति अपने अपेक्षित समर्थन का विस्तार नहीं किया जो विभाजन की वजह से काफी भार सह रहा है। राज्य के साथ हुए अन्याय पर पछतावा करते हुए उन्होंने बताया- स्थान के आधार पर परिसंपत्तियां दी गईं जबकि ऋण जनसंख्या के आधार पर बांटे गए। बिजली का वितरण खपत के आधार पर किया गया। नायडू ने कांग्रेस को अन्याय के लिए जिम्मेदार ठहराया और कहा कि उन्होंने भाजपा के साथ गठबंधन न्याय की आस में किया था।

नायडू ने कहा- मैं देश का सबसे वरिष्ठ राजनेता हूं। मैं अपने राज्य के विकास के लिए कड़ी मेहनत कर रहा हूं और मैं ऐसी ही उम्मीद केंद्र सरकार से अपने राज्य के लिए करता हूं लेकिन केंद्र के उदासीन रवैये से दुखी हूं। उन्होंने कहा कि मैंने चार सालों तक इंतजार किया। राज्य को विकसित करने के लिए हम नए प्रस्ताव लाए और यहां विदेशी कंपनियों को निवेश करने के लिए आकर्षित किया। उन्होंने कहा कि उनकी कड़ी मेहनत और राज्य की प्रगति को केंद्र से झटका लगा है।

Loading...

Check Also

कांग्रेस ने भाजपा की तरफ इशारा करते हुए उपेंद्र कुशवाहा को दी बड़ी सलाह

कांग्रेस ने भाजपा की तरफ इशारा करते हुए उपेंद्र कुशवाहा को दी बड़ी सलाह

लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी (रालोसपा) और भाजपा के …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com