क्या है कारण जो सपा की कार्यकारिणी बैठक में नहीं पहुँचे मुलायम सिंह यादव व शिवपाल

लखनऊ। समाजवादी पार्टी ने आज लखनऊ में राष्ट्रीय कार्यकारिणी का आयोजन किया है। समाजवादी पार्टी के कार्यालय में चल रही बैठक में पार्टी के सरंक्षक मुलायम सिंह यादव तथा पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव नहीं पहुंचे हैं।क्या है कारण जो सपा की कार्यकारिणी बैठक में नहीं पहुँचे मुलायम सिंह यादव व शिवपाल

लोकसभा चुनाव 2019 के साथ ही मध्य प्रदेश, राजस्थान व छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव को लेकर काफी अहम मानी जा रही पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ प्रमुख महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव, पार्टी उपाध्यक्ष किरनमय नंदा व राज्यसभा सांसद जया बच्चन भी मौजूद हैं। इस अहम बैठक से मुलायम सिंह यादव के साथ ही अखिलेश यादव सरकार की कैबिनेट में मंत्री रहे शिवपाल सिंह यादव के किनारा करने पर तमाम कयास लगाए जा रहे हैं।

समाजवादी पार्टी लखनऊ में आज की बैठक में लोकसभा चुनाव समेत तीन राज्यों में होने जा रहे चुनाव का रोडमैप तैयार करेगी। इस बैठक में भाजपा के खिलाफ गठबंधन पर भी मुहर लगेगी और इसके लिए दूसरे दलों से बातचीत के लिए औपचारिक रूप से पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को अधिकृत किया जाएगा। पार्टी की ओर से राजनीतिक और आर्थिक प्रस्ताव भी रखा जाएगा।

राष्ट्रीय सचिव और पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने बताया कि बैठक प्रात: दस बजे राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की अध्यक्षता में शुरू हो गई। इसमें प्रमुख महासचिव प्रो. राम गोपाल यादव समेत अन्य पदाधिकारी और राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष भी शामिल हैं। बैठक में राजनीतिक, आर्थिक प्रस्तावों पर चर्चा के साथ ही चुनावी तैयारियों पर भी मंथन होगा। 

बैठक में मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ राज्य में होने वाले चुनावों पर भी चर्चा होगी। अखिलेश यादव मध्य प्रदेश के चुनाव को लेकर काफी गंभीर हैैं और हाल ही में वहां का दौरा भी कर चुके हैं। इसके अलावा भाजपा के खिलाफ आंदोलन की रूपरेखा को भी अंतिम रूप दिया जा सकता है। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की इस बैठक के लिए पार्टी मुख्यालय में कल तैयारियां चलती रहीं। पार्टी के कई पदाधिकारी भी शाम तक राजधानी पहुंच गए थे।बैठक में मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ राज्य में होने वाले चुनावों पर भी चर्चा होगी। अखिलेश यादव मध्य प्रदेश के चुनाव को लेकर काफी गंभीर हैैं और हाल ही में वहां का दौरा भी कर चुके हैं। इसके अलावा भाजपा के खिलाफ आंदोलन की रूपरेखा को भी अंतिम रूप दिया जा सकता है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जवानों की हत्या को लेकर केजरीवाल ने PM मोदी से मांगा जवाब

बीएसएफ जवान नरेंद्र सिंह की शहादत के बाद