नरेंद्र मोदी ने कहा जो लोग मेरे खिलाफ मामले ढूंढ रहे हैं उनके खिलाफ सबसे ज्यादा मामले निकलेंगे

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज लखनऊ में 60 हजार करोड़ की 81 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस दौरान उन्होंने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में इतने बड़े निवेश की परियोजनाओं को धरा पर उतारने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही उनके सभी अफसरों को बधाई दी।नरेंद्र मोदी ने कहा जो लोग मेरे खिलाफ मामले ढूंढ रहे हैं उनके खिलाफ सबसे ज्यादा मामले निकलेंगे

पीएम मोदी ने कहा कि औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना बहुत संकोच से कह रहे थे कि 60000 करोड़ का निवेश हुआ है। यह ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी नहीं रिकॉर्ड ब्रेकिंग सेरेमनी है। इतने कम समय में प्रक्रिया को सरल कर इतना बड़ा निवेश करना बड़ी बात है। मैं भी बहुत लंबे अरसे तक मुख्यमंत्री रहा हूं उद्योगिक गतिविधियों से जुड़ा रहा हूं यह कम नहीं है। 

यूपी इन्वेस्टर्स समिट के 5 महीने बाद ही इतना बड़ा निवेश होना बड़ा काम है कोई छोटा काम नहीं मैं इसके लिए सभी को बधाई देता हूं। साठ हजार करोड़ को कम ना समझे। हम एक ऐसी व्यवस्था खड़ी करना चाहते हैं जहां किसी प्रकार के भेदभाव की गुंजाइश ना हो। आज का आयोजन यूपी पर बढ़ते भरोसे का प्रतीक है।

पीएम मोदी मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि हम उद्योग से नहीं डरते, उद्योगपतियों से नहीं डरते। जब नीयत साफ हो और इरादे नेक हों तो किसी के साथ खड़े होने में डर नहीं लगता। जो आरोप लगाते हैं, उनकी मंशा साफ नहीं होती है और वे पर्दे के पीछे मुलाकात करते हैं। अमर सिंह जी को सब पता है कि कौन उद्योगपति किसके कदमों में दंडवत रहते थे। जिसकी नीयत साफ है उसको किसी के साथ तस्वीर खिंचाने में कोई डर नही होता। महात्मा गांधी को बिरलाजी के साथ खड़े होने में कभी संकोच नहीं हुआ। वे उनके घर जाकर रुकते थे। देश में कारोबारियों की अहम भूमिका होती है। हम उन्हें चोर-लुटेरे कहेंगे, ये कौन सी संस्कृति है। लेकिन जो गलत काम करेंगे, उन्हें देश छोड़ना पड़ेगा या जेल जाना होगा। जैसे एक मजदूर, किसान और जनता की भागीदारी होती है वैसे ही देश के उद्योगकारों की देश को बनाने में अहम भूमिका रहती है।क्या हम उन्हें अपमानित करेंगे? चोर, लूटेरे कहेंगे? 

अमर सिंह को सब पता है कौन उद्योगपति किसके कदमों में दंडवत रहते थे, जिसकी नीयत साफ है उसको किसी के साथ तस्वीर खिंचाने में कोई डर नही। पीएम मोदी ने कहा कि देश को आगे बढ़ाने के लिए हर किसी के साथ और सहयोग की आवश्यकता है। देश के उद्योगकारों की देश को बनाने में अहम् भूमिका रहती है। क्या हम उन्हें अपमानित करेंगे? चोर, लूटेरे कहेंगे? हां जो गलत काम करेगा उसको जेल में जिंदगी गुजारनी पड़ेगी। पीएम ने कहा देश को बनाने में उद्योगपतियों की महत्वपूर्ण भूमिका है, अगर हम उन्हें अपमानित करेंगे तो कैसे काम होगा। पहले पर्दे के पीछे बहुत कुछ होता था। देश में कोई भी ऐसा उद्योगपति नहीं होगा जो सरकार के सामने जाकर दंडवत ना होता हो कार्यक्रम में अमर सिंह बैठे हुए हैं इनके पास पूरी हिस्ट्री है। 

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि नियत साफ हो तो बड़े से बड़ा काम भी किया जा सकता है। उद्योगपतियों के साथ का विरोध करने वाले पर्दे के पीछे तो उनसे खूब मुलाकात करते हैं और सामने आकर उनका ही विरोध करते हैं। नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के द्वारा कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उद्योगपतियों का साथ जरूरी है लेकिन जो गलत करेगा उसे या तो देश से भागना पड़ेगा या फिर जेल में जीवन बिताना पड़ेगा। पहले ऐसा नहीं होता था क्योंकि आज जो लोग विरोध कर रहे हैं पहले वो पर्दे के पीछे से इन्हें सपोर्ट करते थे। यह सबको मालूम है कौन लोग किसके हवाई जहाज से घूमते रहे।

पीएम मोदी ने कहा कि यहां मौजूद आप सभी को और तमाम निवेशकों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि अभी तो शुरुआत है। आप राष्ट्र निर्माण की एक महत्वपूर्ण इकाई हैं और आपके संकल्प, देश के करोड़ों नौजवानों को सपनों से भी जुड़े हुए हैं। एक योजना का दूसरी योजना के सीधा लिंकअप है डिजिटल इंडिया और मेक इन इंडिया इसका ज्वलंत उदाहरण है। मोबाइल फोन इतने सस्ते हुए क्योंकि भारत में मोबाइल फोन का मैन्युफैक्चर बड़ी तेजी से हो रहा है। आज हम विश्व में दूसरे नंबर पर हैं। अभी तो यह शुरुआत है हमें और तेज गति से दौड़ता है तभी समृद्धि की ओर बढ़ पाएंगे। मैं यूपी से सांसद हूं यूपी के लोगों का मेरे ऊपर हक़ है, मैं यूपी आता नहीं हूं मैं यूपी का ही हूँ। हम ऐसा भारत देखना चाहते है कि जहाँ केंद्र और राज्य में गैप न हो, अटल जी ने यह सपना देखा था, उन्होंने कहा था कि सड़कें हाथों की लकीरों की तरह हैं जो भविष्य तय करती हैं। बिजली पर इस सरकार का बहुत बड़ा फोकस है, सरकार सोलर एनर्जी पर ध्यान दे रही है, उत्तर प्रदेश इसके लिए बड़ा काम कर रहा है  मौसम की मेहरबानी खेती और अर्थव्यवस्था के लिए उम्मीदों भरी है। 

आज का आयोजन यूपी पर बढ़ते भरोसे का प्रतीक है। यूपी के कोने कोने में परिवर्तन आएगा। पीएम मोदी ने कहा कि बिजली पर सरकार का बहुत बड़ा फोकस है हम ग्रीन एनर्जी की ओर तेजी से बढ़ रहे हैं।मोदी ने कहा कि जो कोयला कभी कालिख के लिए मशहूर हुआ था उस का उत्पादन अब रिकॉर्ड स्तर पर है उन्होंने इशारों इशारों में यूपीए सरकार पर निशाना भी साधा । पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग मेरे खिलाफ मामले ढूंढ रहे हैं उनके खिलाफ सबसे ज्यादा मामले निकलेंगे क्योंकि मेरे खाते में केवल 4 साल हैं उनके खाते में 70 साल रहे।

पीएम मोदी ने कहा कि जनता को संकट से उबारना सरकार की प्राथमिक जिम्मेदारी है और हम पिछले चार वर्षों से इस जिम्मेदारी का निर्वहन करते आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि शनिवार को मुझे बेघर लोगों को अपने घर की चाबी सौंपने का मुझे अवसर मिला। पांच महीने में उत्तर प्रदेश में दूसरी बार उद्योग जगत के लोगों के साथ ऐसा मुलाकात हो रही है। पिछली बार फरवरी में सवा चार लाख करोड़ के निवेश की नींव रखी गई थी। पांच महीनें में अब 60 करोड़ की परियोजनाओं की नींव रखना अद्भुत सफलता है। इन परियोजनाओं की शुरुआत के लिए सरकार, अफसर और यहां के किसान बधाई के पात्र हैं। किसानों को जमीन देने के लिए और यहां के पटवारी को भी बधाई और धन्यवाद अर्पित करता हूं। उन्होंने कहा कि देश को प्रधानमंत्री चला पाता या फिर पटवारी चला पाता है।

उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं के लिए जमीन मिल पाई, ये पटवारियों की वजह से हो पाया। इसके लिए उनका शुक्रिया अदा करता हूं। देश को या तो प्रधानमंत्री चला पाता है या फिर पटवारी। ये नेतृत्व की सफलता है कि इतने कम समय में मुख्यमंत्री से लेकर पटवारी तक पूरी टीम एक जैसी सोच के साथ आगे बढ़ी।संतुलित विकास उत्तर प्रदेश की सबसे बड़ी आवश्यकता है और जनता के लिए ये खुशी की बात है कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की सर्वांगिम विकास की नींव रखी है। उन्होंने प्रदेश के हर भूभाग के लिए काम किया और निवेश के लिए सभी जगहों का खयाल रखा।

निवेश के लिए अनुकुल वातावरण तैयार करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बधाई के पात्र हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि प्रक्रियाओं में गति भी दिखे और संवेदनशीलता भी, ना अपना, ना पराया, ना छोटा, ना बड़ा, सबके साथ समान व्यवहार – ‘सबका साथ, सबका विकास’। मैंने यूपी की 22 करोड़ जनता को वचन दिया था कि उनके प्यार को ब्याज़ समेत लौटाउंगा। यहां जो परियोजनाएं शुरु हो रही हैं वो उसी वचनबद्धता का हिस्सा हैं। ये प्रोजेक्ट्स उत्तर प्रदेश में आर्थिक और औद्योगिक असंतुलन को दूर करने में भी सहायक होंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी कहते रहे हैं कि वो ऐसा भारत देखना चाहते हैं जो समृद्ध हो, सक्षम हो और संवेदनशील हो। जहां गांव और शहरों के बीच खाई ना हो। जहां केंद्र और राज्य में, श्रम और पूंजी में, प्रशासन और नागरिक में गैप न हो। हम उनके कथन की ओर बढ़ रहे हैं। 

यूपी के सीएम ने सभी विभागों के सर्वांगीण विकास और संतुलित विकास पर जोर दिया या बहुत अच्छी बात है। पीएम मोदी ने कहा कि यूपी में एक समय निवेश को चुनौती माना जाता था। अब यह अवसर में तब्दील हो गया जो एक बहुत अच्छी बात है। जिस गति से यूपी बढ़ रहा है, उससे जल्दी ही 1 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी वाला प्रदेश होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर कहा कि पांच महीने में यह दूसरी बार है जब मैं उद्योग जगत से जुड़े साथियों के साथ मैं यहां लखनऊ में मिल रहा हूं। इससे पहले फरवरी में यूपी इन्वेस्टर्स समिट के लिए भी आप आए थे। मुझे प्रसन्नता है कि उस संकल्प को जमीन पर उतारने की कड़ी में आज बड़ा कदम उठ रहा है। 

यूपी में हम औद्योगिक क्षेत्र में विशेष सुरक्षा बल का गठन करेंगे : योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी पीएम नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में देश के नामचीन उद्योगपतियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने यूपी इन्वेस्टर्स समिट 2018 का उद्घाटन किया था। उस समय 4.68 लाख करोड़ रुपये के एमओयू साइन हुए थे। अब हम उनकी प्रेरणा से पांच माह की अल्प अवधि में 60 हजार करोड़ रुपये के निवेश की प्रक्रिया को आरंभ कर रहे हैं। 60 हजार करोड़ रुपये के निवेश का 51 प्रतिशत पश्चिमांचल में, 27 प्रतिशत मध्यांचल व बुंदेखलखंड में और 22 प्रतिशत पूर्वी उत्तर प्रदेश में होने जा रहा है। योगी आदित्यनाथ ने कहा यूपी में पहले यह कहा जाता था यूपी में विशेष क्षेत्र में ही निवेश होते हैं लेकिन हमने इस विषमता को दूर करने का काम किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज ऐसा माहौल है कि कोई भी निवेशक बाहर नहीं जाना चाहता बल्कि अपनी योजनाओं को और आगे बढ़ाने पर विचार कर रहा है।पहले ऐसा निराशा पूर्ण माहौल था कि कोई निवेशक आने को तैयार नहीं होता था।

अब तो यहां पर पूर्वांचल एक्सप्रेस वे बनने जा रहा है। जल्द ही बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का भी शिलान्यास होगा। हम इन दोनों एक्सप्रेसवे की मदद से यूपी में निवेश आकर्षित करेंगे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश ने देश के विभिन्न राज्यों में ईज ऑफ डुइंग बिजनेस में श्रेष्ठ पांच राज्यों में जगह बनाने में सफलता प्राप्त की है। 50 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाएं पाइप लाइन में हैं। इन परियोजनाओं को भी जल्द ही जमीन पर उतारने का काम करेंगे। हम तो अब औद्योगिक क्षेत्र में विशेष सुरक्षा बल के गठन की प्रक्रिया में हैं। औद्योगिक क्षेत्र में विशेष सुरक्षा बल के साथ प्रशिक्षित अधिकारियों की तैनाती का निर्णय लिया गया है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने यूपी को बड़ा इन्वेस्मेंट डेस्टिनेशन बनाया : राजनाथ सिंह

केंद्रीय गृह मंत्री तथा लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह ने इस अवसर पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश को बड़ा इन्वेस्टमेंट डेस्टिनेशन बनाने का काम किया है। उनके निर्देशन में देश तथा प्रदेश प्रगति तथा विकास की राह पर है। राजनाथ सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अब अधिक से अधिक निवेश होगा। मैं सभी को यह भरोसा दिलाता हूं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सभी उद्योगपतियों को मजबूत सुरक्षा दिलाएंगे। राजनाथ सिंह ने कहा कि बहुत कम ऐसे मौके ऐसे होते हैं, जब पीएम किसी शहर में लगातार जाते हैं। बहुत कम ऐसे मौके ऐसे होते हैं, जब पीएम किसी शहर में लगातार जाते हैं। कल जब मोदी जी आये थे, तब भी वो खाली हाथ नहीं थे और आज भी एक बड़ी शुरुआत कर रहे हैं।

लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने भारत देश को ‘मोस्ट एट्रेक्टिव डेस्टिनेशन’ बनाने का काम किया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी में ये कीर्तिमान स्थापित किया है। बेहद अहम है कि यूपी इन्वेस्टर्स समिट में जिस निवेश के एमओयू साइन हुए थे। उसमें 60 हजार करोड़ से ज्यादा की निवेश परियोजनाओं की शुरुआत 6 महीने से पहले ही हो रही है। उन्होंने कहा मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि अब भारत के विकास का एक्सप्रेसवे सिर्फ दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई और बैंगलुरू से ही नहीं बल्कि यूपी की राजधानी लखनऊ से भी गुजरता है। राजनाथ सिंह ने कहा कि इंवेस्टर्स समिट की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही की थी, जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे। देश को अगर पीएम ने मोस्ट एट्रैक्टिव डेस्टिनेशन बनाया, वहीं यूपी को निवेशकों के लिए मोस्ट एट्रैक्टिव डेस्टिनेशन योगी जी ने बनाया है।

कार्यक्रम में बिड़ला ग्रुप के कुमार मंगलम बिड़ला ने केंद्र के साथ ही प्रदेश सरकार की सराहना की। उन्होंने कहा कि हम यूपी में 25000 करोड़ सीमेंट केमिकल और फाइनेंसियल सर्विसेस के क्षेत्र में निवेश करेंगे। उन्होंने कहा कि आदित्य बिरला ग्रुप यूपी में नंबर एक का इन्वेस्टर है और हम इसे और मजबूती से आगे बढ़ाएंगे। अडानी ग्रुप के गौतम अडानी ने कहा कि वह यूपी में 36 हजार 500 करोड़ का निवेश कर चुके हैं। 100000 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा आगे कारपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी के तहत क्वालिटी एजुकेशन और स्किल डेवलपमेंट के लिए वह काम करेंगे। 

एक्सेल ग्रुप के प्रमुख सुभाष चंद्रा ने कहा कि हम 50,000 बेरोजगारों को रोजगार देंगे। 25000 ई रिक्शा और 25000 ऑटो आज ग्राउंड बेकिंग सेरेमनी भेज दिया जाएगा। ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के कार्यक्रम में उद्योगपति संजय पुरी (आईटीसी लिमिटेड) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी हमारे लिए और आईटीसी के लिए उर्जा के स्रोत हैं। उनकी प्रेरणा से हम देश के हर कोने में काम करने को तैयार हैं। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर राज्यपाल राम नाईक, गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वागत किया। इनके साथ ही आज बारिश की फुहारों ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लखनऊ में अगवानी की। इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चिकन का शॉल देकर प्रधानमंत्री का स्वागत किया। इस निवेश सम्मेलन में शिलान्यास कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने सभी का स्वागत किया।  

यूपी में 24 जिलों को एक साथ कवर करने वाली अलग-अलग निवेश परियोजनाओं का शुभारंभ कभी नहीं किया गया। निवेश की शुरुआत छह महीने पहले फरवरी में आयोजित हुए यूपी इन्वेस्टर्स समिट में हुई थी। यह कहा जा रहा है कि इनमें ज्यादातार योजनाएं योगी आदित्यनाथ सरकार के रहते ही पूरी कर ली जाएंगीं। लिहाजा आने वाले समय में सीएम योगी इसे बड़ी उपलब्धि के तौर पर पेश कर सकते हैं। इन परियोजनाओं में 41,450 करोड़ रुपए की योजनाएं आईटी व इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र से जुड़ी हैं।

यूपी में निवेश का योगी सरकार बनाएगी अनूठा रिकॉर्ड 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश की 60 हजार करोड़ की 81 परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे। इसके साथ ही योगी सरकार उत्तर प्रदेश में महज डेढ़ वर्ष के कार्यकाल के दौरान ही इतने बड़े निवेश का अनूठा कीर्तिमान भी स्थापित करेगी। अखिलेश सरकार में करीब 50 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का निवेश हुआ था। बसपा कार्यकाल के दौरान 57 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का निवेश हुआ। उद्योग बंधु के आंकड़ों के अनुसार बसपा और सपा दोनों ही सरकारों के आखिरी वर्षों में सबसे ज्यादा निवेश हुआ। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

केरल बाढ़ पीड़ितों की सराहनीय मदद हेतु यूपी पत्रकार एसोसिएशन को किया सम्मानित

लखनऊ : हाल ही में केरल में आयी