मोदी सरकार को लगा बड़ा झटका,TDP के अविश्वास प्रस्ताव को कांग्रेस का समर्थन

आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिए जाने की मांग लेकर केंद्र के विरोध में खड़ी तेलुगु देशम पार्टी ने एनडीए का साथ छोड़ दिया है। इसके साथ ही टीडीपी और एनडीए का साथ छूट गया है। मीडिया से बात करते हुए टीडीपी सांसद थोटा नरसिम्हन ने कहा कि हमारी पार्टी लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाएगी। हमने फैसला ले लिया है और हम एनडीए से अलग हो गए हैं।

मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के दफ्तर द्वारा जारी किए गए बयान में इसकी घोषणा कर दी गई है। इसमें कहा गया है कि एनडीए द्वारा आंध्र प्रदेश के साथ अन्याय किए जाने के बाद टीडीपी ने अपना समर्थन वापिस ले लिया है। मुख्यमंत्री ने यह फैसला पार्टी के पोलित ब्यूरो और संसादों के साथ हुई इमरजेंसी टेलीकॉन्फ्रेंस के बाद लिया है। इसके साथ ही टीडीपी मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव भी लेकर आएगी।

अररिया: देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में 2 गिरफ्तार

टीडीपी के इस अविश्वास प्रस्ताव का कांग्रेस समर्थन करेगी। आंध्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रघुवीर रेड्डी ने कहा कि टीडीपी और वायएसआर कांग्रेस द्वारा लाए जा रहे अविश्वास प्रस्ताव का कांग्रेस समर्थन करेगी।

वहीं पूरे घटनाक्रम को लेकर भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि हम देखेंगे संसद में क्या होता है, कौन सी पार्टी किस रास्ते पर जाने का फैसला करती है। यह चुनावी साल है और हर राज्य की मांगें और मुद्दे हैं, यह सही नहीं होगा कि हम उस पर टिप्पणी करें। यह एक कस्टम है और मुख्य चुनाव के पहले एक रिहर्सल की तरह है।

तेदेपा इससे पहले केंद्रीय कैबिनेट से अपने मंत्रियों के इस्तीफे दिलवा चुकी है। दूसरी तरफ वायआरएस कांग्रेस ने सदन में अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया है। इस समय TDP के लोकसभा में 16 सदस्य हैं। वहीं वाईएसआर के 9 लोकसभा सदस्य हैं।

You may also like

बलात्कार मामलों में अब होगी त्वरित कार्रवाई, पुलिस को मिलेगी यह विशेष किट

देश में पुलिस थानों को बलात्कार के मामलों की जांच