चुनाव जीतने तक कुंवारे रहने की खायी थी कसम, विधायक बनने के एक साल बाद हुई शादी

फैजाबाद. यहां की गोसाईंगंज सीट से विधायक इंद्र प्रताप तिवारी उर्फ खब्बू तिवारी ने 31 मई को बहुत ही सादे समारोह में शादी कर ली है। शनिवार को उन्होंने अयोध्या में अपने ननिहाल में ग्रैंड रिसेप्शन पार्टी रखी। जिसमे कई बड़े नेता और उनके रिश्तेदार पहुंचे। उन्होंने सीएम योगी से लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह को दावतनामा भेजा है। वीआईपी मेहमानों के लिए उन्होंने पंडाल के आसपास छह हेलीपैड भी बनवाएं हैं। आपको बता दे, ये वह खब्बू तिवारी हैं जिन्होंने यूपी विधानसभा 2017 का प्रचार यह कह कर किया था कि जब तक चुनाव नहीं हो जाता शादी नहीं करूँगा। बहरहाल, उन्होंने चुनाव जीता और एक साल बाद उन्होंने शादी कर ली है।चुनाव जीतने तक कुंवारे रहने की खायी थी कसम, विधायक बनने के एक साल बाद हुई शादी

नेताओं ने भी किया था इस विषय पर प्रचार

-यूपी विधानसभा चुनावों में गोसाईंगंज सीट पर पहुंचे कई बड़े नेताओं ने भी मंच से खब्बू की शादी कराने के लिए उन्हें जिताने का आह्वाहन किया था। चुनाव क्षेत्र में तब एक नारा भी गूंजा था कि “खब्बू तिवारी को जिताएंगे, बैंड, बाजा और बाराती ले जाएंगे। “
-आखिरकार उन्हें जनता का सपोर्ट मिला और वह समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी और पूर्व एमएलए अभय सिंह को हरा कर विधायक बन गए।

गोंडा से हुई है शादी

-जानकारी के मुताबिक खब्बू तिवारी की शादी गोंडा की आरती से हुई है। वह पोस्टग्रेजुएट हैं। साथ ही बहुत सादे समारोह में यह विवाह हुआ है। जिसमे रिश्तेदार और विधायक के कुछ समर्थक ही शामिल हुए हैं।
-शनिवार को उनका रिसेप्शन मनाया गया। जिसमे विनय कटियार से लेकर कई बड़े नेता पहुंचे। इनमे केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल, डॉ महेश शर्मा, सुधांशु त्रिवेदी भी पहुंचे। देर रात तक मेहमानों का आना-जाना लगा रहा।

रिसेप्शन की हुई ख़ास तैयारी

-बताया जाता है कि रिसेप्शन के लिए 20 हजार ख़ास मेहमान और तकरीबन 1 लाख से ज्यादा सामान्य मेहमानों को कार्ड भेजा गया है।
-रिसेप्शन पार्टी को ख़ास बनाने के लिए कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। जिसमे सबसे ख़ास भोजपुरी गायक पवन सिंह की परफॉरमेंस ख़ास रही।

-पार्टी में ख़ास मेहमानों के 56 तरह के व्यंजन बनाये गए हैं। जिन्हें बनाने के लिए अलग अलग जिलों से ख़ास कारीगर भी बुलाये गए हैं।

8 मजिस्ट्रेट और 500 पुलिस वालों की हुई तैनाती

-समारोह में खास मेहमानों की सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए प्रशासनिक अमला ख़ास तौर पर एक्टिव है। डीएम अनिल कुमार ने बताया कि सुरक्षा के लिए 500 पुलिसकर्मी और 8 मजिस्ट्रेट की विशेष तैनाती की गयी है। यह सभी आयोजन स्थल के आसपास की सुरक्षा देखेंगे।

दिसंबर 2016 में हुए थे बीजेपी में शामिल

-खब्बू तिवारी ने चुनाव से पहले दिसंबर 2016 में बीजेपी का दामन अमित शाह की मौजूदगी में लखनऊ में थामा था। दरअसल, खब्बू सपा और बसपा दोनों ही पार्टियों में रहे हैं लेकिन बार बार चुनाव लड़ने के बाद भी एक बार भी वह चुनाव नहीं जीत पाए लेकिन बीजेपी के टिकट पर उन्हें जीत हासिल हो गयी।

बाहुबली के नाम से जाने जाते हैं

— खब्बू तिवारी की लोकप्रियता युवाओं में ज्यादा है, जिसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि छात्रसंघ में आज भी साकेत कॉलेज में उनसे मिलकर सभी छात्र नेता चुनाव लड़ते हैं।
– वह हमेशा अपने दबंग स्टाइल में ही रहते हैं जिसमें किसी भी वक्त कहीं भी किसी की भी सहायता करने के लिए चल देते हैं।
– बताया जाता है कि एक जीता हुआ विधायक 4-6 गाड़ियों से चलते हैं, तो खब्बू तिवारी 12-15 गाड़ियों से कम चलते ही नहीं है।
– इंद्र प्रताप तिवारी के करीबी के अनुसार, ये एमएससी साकेत महाविद्यालय से किया। बहुत अच्छे स्काॅलर रहे हैं। छात्रसंघ चुनावों से ही सक्रिय राजनीति में जाना चाहते थे। छात्रसंघ राजनीति में सक्रिय रहे और वहीं से राजनीति में आने की ठानी। 1994-95 में साकेत कॉलेज के महामंत्री रह चुके हैं। जिला पंचायत सदस्य दो बार रहे हैं। 2007 में विधानसभा चुनाव सपा अयोध्या से लड़े, लेकिन हार गए।

Loading...

Check Also

अभ्यर्थियों की समस्या को लेकर 18 नवंबर को होने वाली टीईटी परीक्षा का समय बदला

अभ्यर्थियों की समस्या को लेकर 18 नवंबर को होने वाली टीईटी परीक्षा का समय बदला

18 नवंबर को होने वाली शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) 2018 में दूसरी पाली का समय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com