जेई भर्ती परीक्षा में ब्राह्मणों के बारे में आपत्तिजनक सवाल पूछे जाने पर कई मंत्री भी हैं नाराज

- in राज्य, हरियाणा

चंडीगढ़। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा जूनियर इंजीनियर की परीक्षा में ब्राह्मणों को लेकर आपत्तिजनक सवाल पूछे जाने से मनोहर सरकार के कई मंत्री भी नाराज हैैं। राज्य के शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा और कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने भी इस मामले पर नाराजगी जताई है। सहकारिता राज्य मंत्री मनीष ग्राेवर ने भी ऐसे प्रश्‍न को गलत करार दिया है।जेई भर्ती परीक्षा में ब्राह्मणों के बारे में आपत्तिजनक सवाल पूछे जाने पर कई मंत्री भी हैं नाराज

हुड्डा व कुलदीप की घेराबंदी के बाद राज्य सरकार के तीन मंत्रियों ने संभाला मोर्चा

पूरे प्रकरण में तीनों मंत्रियों ने राज्‍य सरकार व हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग का बचाव किया है। उन्‍हाेंने कहा कि इस परीक्षा का प्रश्नपत्र तैयार करने वाला ही हरियाणा के लिए अपशकुनी है। तीनों मंत्रियों ने पूर्व मुख्‍यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और पूर्व विधानसभा अध्‍यक्ष कुलदीप शर्मा द्वारा उठाए गए सवालों के जवाब दिए।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस और इनेलो इस मुद्दे पर सरकार व आयोग को घेरने का कोई मौका हाथ से नहीं जाने दे रहे हैैं। आयोग के चेयरमैन भारत भूषण भारती, भाजपा के राज्यसभा सदस्य डीपी वत्स और हाउसिंग बोर्ड के चेयरमैन जवाहर यादव इस मामले में पहले ही सफाई दे चुके हैैं। अब ब्राह्मण समुदाय से संबंध रखने वाले व मनोहर कैबिनेट के सीनियर मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा का बयान आना मायने रखता है। प्रो. रामबिलास ने कहा कि इस पूरे मामले की गहराई से जांच कराई जा रही है।

” जेई की परीक्षा में आपत्तिजनक सवार पूछने पर पूरे प्रदेश में आक्रोश है। इसकी गहराई से जांच की जा रही है कि किसकी अनुमति से ऐसे अपमानजनक शब्दों का किया गया। जो भी अधिकारी इसके लिए जिम्मेदार होगा, उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

” ब्राह्मण समाज के लिए ऐसा सवाल बनाने वाला व्यक्ति खुद हरियाणा के लिए अपशकुनी है। समाज के किसी भी वर्ग के प्रति असम्मान कारक शब्द व  टिप्पणी अत्यंत निंदनीय है। ऐसे व्यक्ति के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तराखंड में सियासी घमासान के बीच CM बहुगुणा पहुँचे शहजाद के घर

रुड़की: पिछले दिनों से मचे सियासी घमासान के