भारत में कोरोना संकट के बीच मदद के लिए कई देशों ने बढ़ाये हाथ, फ्रांस ने..

भारत में कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहे भारत की मदद के लिए कई देश आगे आए हैं। फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा है कि मुसीबत की इस घड़ी में फ्रांस निश्चित ही भारत के साथ खड़ा है, हम भारत को सहयोग देने के लिए तैयार हैं। हालांकि फ्रांस ने पिछले दिनों सतर्कता बरतते हुए भारत से उनके देश जा रहे लोगों को 10 दिन क्वारंटीन रहने के आदेश दिए हैं।

भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनिन ने राष्ट्रपति का संदेश ट्वीट करते हुए कहा, कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहे भारत के लोगों को मैं एकजुटता का संदेश देना चाहता हूं। इस महामारी ने किसी को नहीं छोड़ा है। हम आपकी मदद करने के लिए तैयार हैं। बता दें कि भारत में पिछले कुछ दिनों से एक दिन में लगातार तीन लाख से ज्यादा संक्रमित सामने आए हैं।

ब्रिटेन ने मदद का भरोसा दिया
ब्रिटेन ने भी संकट की घड़ी में भारत को मदद की पेशकश की है। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि वह भारत की मदद का तरीका देख रहे हैं जहां कोरोना वायरस का संक्रमण बुरी तरह फैल गया है।  

चीन ने भी की मदद की पेशकश
संक्रमण से निपटने के लिए चीन ने भी भारत को आवश्यक समर्थन एवं सहायता उपलब्ध कराने की पेशकश की है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा कि कोविड-19 महामारी पूरी मानवता के लिए शत्रु है, जिससे निपटने के लिए अंतरराष्ट्रीय एकजुटता एवं पारस्परिक सहायता की आवश्यकता है। महामारी को काबू करने के लिए चीन भारत को हरसंभव सहायता प्रदान करने को तैयार है।

अमेरिकी सांसदों ने जताई चिंता, मदद का आह्वान
अमेरिका के कई सांसदों ने भारत में कोविड-19 के मामलों में अप्रत्याशित बढ़ोतरी पर चिंता जताई और बाइडन प्रशासन से भारत को सभी जरूरी मदद मुहैया कराने का अनुरोध किया है। डेमोक्रेटिक  सांसद एडवर्ड मार्के ने कहा, हमारे पास जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लिए सारे संसाधन हैं और यह हमारी नैतिक जिम्मेदारी भी है। सदन की विदेश मामलों की समिति के अध्यक्ष सांसद ग्रेगरी मीक्स ने कहा कि वह महामारी के कारण भारत में बने हालात को लेकर चिंतित हैं। सांसद हेली स्टीवंस ने कहा, मैं भारत में महामारी का सामना कर रहे परिवारों के लिए प्रार्थना करती हूं और विश्व समुदाय से समन्वय का आग्रह करती हूं। भारतवंशी सांसद रो खन्ना ने लोक स्वास्थ्य विशेषज्ञ आशीष के झा के एक ट्वीट को साझा करते हुए कहा, हम भारत को एस्ट्रेजेनेका टीके की 3.5 करोड़ अतिरिक्त खुराक पहुंचा सकते हैं। 

कनाडा ने लगाई उड़ानों पर रोक
भारत-पाक में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए कनाडा ने दोनों देशों की उड़ानों पर 30 दिनों की रोक लगा दी है। परिवहन मंत्री उमर अल्घाब्रा ने कहा, यह पाबंदी बृहस्पतिवार देर रात से लग गई हैं। इसी तरह सिंगापुर ने भी गत 14 दिन में भारत गए सभी दीर्घकालिक पास धारकों और अल्पावधि यात्रा करने वालों के 24 अप्रैल से सिंगापुर में प्रवेश करने अथवा यहां से गुजरने पर पाबंदी लगा दी है।

इनके अलावा ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया और यूएई समेत कई देशों ने कोरोना संक्रमण की बढ़ती संख्या को देखते हुए विमानों की आवाजाही रोक दी है। बता दें कि भारत इस वक्त कोरोना संक्रमण की दूसरी और पाकिस्तान तीसरी लहर से जूझ रहा है। कनाडा के परिवहन मंत्री ने इन प्रतिबंधों की घोषणा तब की जब भारत में पिछले 24 घंटे के दौरान सवा तीन लाख से ज्यादा संक्रमण के मामले रिपोर्ट किए गए। दूसरी तरफ, पिछले 14 दिन में भारत की यात्रा पर गए सभी दीर्घकालिक पास धारकों और अल्पावधि की यात्रा करने वाले लोगों के 24 अप्रैल से सिंगापुर में प्रवेश करने या यहां से गुजरने पर प्रतिबंध रहेगा। शिक्षा मंत्री व महामारी से निपटने के लिए बनाए गए मंत्रियों के कार्यसमूह के सह-अध्यक्ष लॉरेंस वॉंग ने कहा, यह फैसला उन लोगों पर भी लागू होगा जिन्होंने सिंगापुर में प्रवेश की अनुमति पहले ही ले रखी है।

ट्रूडो ने ओटावा में एस्ट्राजेनेका का टीका लगवाया
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने शुक्रवार को ओटावा में कोविड-19 का टीका लगवाया।  ट्रूडो और उनकी पत्नी सोफी ने एस्ट्राजेनेका का टीका लगवाया। विरल रक्त थक्का बनने के कारण कुछ लोग इस टीके को लेकर शंका जता रहे हैं। ओंटारियो प्रांत ने हाल में एस्ट्राजेनेका का टीका लगवाने की पात्रता 40 वर्ष व इससे कम उम्र के लोगों के लिए कर दी। प्रधानमंत्री ने कहा कि कनाडा में 30 फीसदी पात्र वयस्कों ने कम से कम टीके की एक खुराक लगवा ली है।

जापान में तीसरा आपातकाल रविवार से
संक्रमण से बेहाल जापान ने रविवार से टोक्यो समेत कई राज्यों में 11 मई तक आपातकाल का एलान किया है। अगले हफ्ते से जापान में शुरू होने वाली गोल्डन वीक की छुट्टियों के दौरान बड़ी संख्या में लोगों के बाहर निकलने की आशंका के चलते सरकार ने यह घोषणा की है। प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने शुक्रवार को टास्क फोर्स की बैठक में तीसरे आपातकाल को मंजूरी दी। 

सिंगापुर : सात दिन का अतिरिक्त क्वारंटीन
सिंगापुर ने भारत गए लोगों पर प्रतिबंध लगाने के अलावा भारत की यात्रा कर चुके और बृहस्पतिवार रात 11.59 बजे तक 14 दिन की घर में रहने की अवधि पूरी नहीं करने वाले लोगों को भी उनके निवास स्थानों के बजाय निर्धारित केंद्रों पर क्वारंटीन रहने को कहा है। यह क्वारंटीन अवधि सात दिन की होगी। ऐसे लोगों को तीन बार पीसीआर जांच करानी होगी। 

कनाडा : उड़ानों से पहुंचे लोग ज्यादा संक्रमित
कनाडा में भारत से आने वाली उड़ानें देश के हवाई यातायात का करीब पांचवां हिस्सा होती हैं। ऐसे में स्वास्थ्य मंत्री पैटी हज्दू ने कहा कि उड़ानों के जरिये भारत से कनाडा पहुंचने वाले आधे लोग बड़ी तादाद में संक्रमित पाए गए हैं। जबकि पाक से आने वाले हवाई यात्रियों के पॉजिटिव होने की संख्या भी अधिक है, इसलिए उड़ानों पर रोक लगाना सही कदम है।

ब्रिटेन में भारतीय यात्रियों के लिए ‘रेड लिस्ट’ पाबंदी शुरू
ब्रिटेन में कोरोना वायरस के भारतीय स्वरूप से जुड़े 55 और मामले पाए जाने के बाद भारत से आने वाले यात्रियों के लिए शुक्रवार से ‘रेड लिस्ट’ कोविड-19 यात्रा प्रतिबंध शुरू हो गए हैं। इन प्रतिबंधों के तहत भारत से लोगों के ब्रिटेन आने पर रोक है और नई दिल्ली से अपने देश लौट रहे ब्रिटिश तथा आयरिश नागरिकों के लिए होटल में दस दिन तक क्वारंटीन में रहना अनिवार्य है। ब्रिटेन ने ‘रेड लिस्ट’ श्रेणी के यात्रा प्रतिबंधों में 40 देशों को शामिल किया है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button