9 बच्‍चों को कुचलने के आरोपी नेता मनोज बैठा को पार्टी से निलंबित, किया सरेंडर

- in बिहार

बिहार के मुजफ्फरपुर जिला अंतर्गत धरमपुर में हुई सड़क दुर्घटना में नौ बच्चों की मौत के मुख्य आरोपित मनोज बैठा ने सरेंडर कर दिया है। मुजफ्फरपुर में देर रात सरेंडर के बाद घायल मनोज बैठा को पुलिस ने पीएमसीएच रेफर कर दिया है। 

9 बच्‍चों को कुचलने के आरोपी नेता मनोज बैठा को पार्टी से निलंबित, किया सरेंडर
डीएसपी पूर्वी गौरव पांडे ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि मनोज ने देर रात एसएसपी कार्यालय में सरेंडर किया था। उसकी स्थिति को देखते हुए पीएमसीएच भेज दिया गया है। उसे गंभीर चोटें अायी है। सर और मुंह में काफी चोट है। फिलहाल इमरजेंसी वार्ड में भर्ती करवाया गया है। कुछ समय बाद जनरल वार्ड में शिफ्ट कर दिया जायेगा। मनोज बैठा के पीएमसीएच में भर्ती करवाये जाने के बाद सुरक्षा काफी बढ़ा दी गई। भारी संख्‍या में पुलिस बल तैनात हैं।

पीएमसीएच में पत्रकारों के सवाल पर मनोज बैठा ने बताया कि वह शराब नहीं पीता है। साथ ही कहा कि गाड़ी भी वह खुद ड्राइव नहीं कर रहा था। पिछले सीट पर बैठा हुआ था।

शादी के दिन लापता दुल्हे की मिली लाश, दुल्हन पर बढ़ा शक

वहीं, तीन दिनों बाद मनोज बैठा के आत्‍मसमर्पण करने के बाद पुलिस प्रशासन पर काफी सवाल उठने खड़े हो गए हैं। आखिर नौ बच्‍चों की हत्‍या का मुख्‍य आरोपी पुलिस के शिकंजे में क्‍यों नहीं आया? तीन दिन बाद कहीं इसलिए तो आत्‍मसमर्पण नहीं किया गया कि शराब पीने के साक्ष्‍य दूर हो सकें? ऐसे कई सारे सवाल सामने आ रहे हैं, जिनका जवाब सामने आयेगा।

यह है मामला

मालूम हो कि शनिवार को मीनापुर के धरमपुर में उत्क्रमित मध्य विद्यालय के डेढ़ दर्जन बच्चों को तेज गति से आ रही बोलेरो ने रौंद दिया था। इसमें नौ बच्चों की मौत हो गई थी, जबकि 10 अन्य घायल हो गए थे। घटना ने पूरे राज्य में सनसनी फैला दी।

मामले में दर्ज प्राथमिकी में भाजपा नेता मनोज बैठा को आरोपित बनाया गया था। बोलेरो भी उसकी है। हादसे के समय भी बोलेरो उसके द्वारा ही चलाए जाने की बात कही जा रही है। आरोपित के भाजपा नेता होने के कारण मामले ने विपक्ष को मुद्दा दे दिया।

भाजपा से किया निलंबित

इस बीच भाजपा ने सड़क हादसे को लेकर विवादों में आए मनोज बैठा को पार्टी से निलंबित कर दिया है। सीतामढ़ी जिले के भाजपा जिलाध्यक्ष सुबोध सिंह ने मनोज को छह वर्षों के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित किया है। मनोज के खिलाफ की गई कार्रवाई से सीतामढ़ी जिलाध्यक्ष ने बिहार भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय को अवगत करा दिया है।

You may also like

कांग्रेस का दलित-सवर्ण कार्ड में नहीं विश्वास : मदन मोहन

पटना। तकरीबन 11 महीने के लंबे अंतराल के बाद