दिल्ली में बेकाबू हुआ कोरोना, केजरीवाल ने तत्काल की यह मांग…

देश में कोरोना वायरस के आंकड़ों में बढ़ोतरी होना बदस्तूर जारी है. राजधानी दिल्ली भी एक बार फिर कोरोना महामारी की चपेट में आ गई है और हर दिन कोरोना के मामले नया रिकॉर्ड बना रहे हैं. बीते दिन दिल्ली में 11491 कोरोना के केस दर्ज किए गए, जबकि 72 लोगों की मौत हुई है. दिल्ली में लगातार बढ़ते कोरोना के केस के बीच सरकार सख्त फैसले उठा रही है, तो वहीं अस्पतालों में व्यवस्थाएं चरमरा गई हैं.

बड़े अपडेट: 

मुख्यमंत्री की अपील, परीक्षाएं रद्द की जाएं

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि बहुत जरूरी हो, तभी घर से बाहर निकलें. हर नियम का पालन करते हुए ही घर से बाहर निकलें. मौजूदा हालात को देखते हुए तुरंत CBSE के पेपर्स रद्द किए जाने चाहिए. केजरीवाल बोले कि मौजूदा हालात को देखते हुए यही बेहतर फैसला है.

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में अस्पतालों के साथ अब बैंकट हॉल को अटैच किया जा रहा है, ताकि अस्पतालों से कम खतरे वाले मरीजों को बैंकट हॉल में ले जाया जा सके. दिल्ली के अस्पतालों में जो सर्जरी वेटिंग में हैं, उन्हें अभी रोका जा रहा है सिर्फ इमरजेंसी मरीजों का इलाज किया जा रहा है. 

दूसरे राज्यों से भी आ रहे मरीज: सत्येंद्र जैन

दिल्ली के हालात को लेकर स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है कि दिल्ली में अन्य राज्यों से बड़ी संख्या में मरीज़ आ रहे हैं, अभी हर राज्य के मरीज के लिए अस्पतालों को खोला गया है. मंत्री बोले कि दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी नहीं है, अधिकतर अस्पतालों को बैंकट हॉल के साथ जोड़ा जा रहा है. 

मंत्री ने कहा कि दिल्ली में वैक्सीनेशन तेज़ी से हो रहा है, अगले पांच दिन का स्टॉक हमारे पास है. हमने केंद्र से अपील की है कि दिल्ली में स्थित केंद्र के अस्पतालों में बेड्स की संख्या बढ़ाई जाए.

शास्त्री पार्क, सीलमपुर, कश्मीरी गेट, नई दिल्ली, चांदनी चौक मेट्रो स्टेशन पर एंट्री फिर से शुरू कर दी गई है. 

 दिल्ली में कोरोना के बढ़ते कहर के बीच मंगलवार सुबह मेट्रो स्टेशन पर एंट्री रोक दी गई. कुतुब मीनार और साकेत मेट्रो स्टेशन पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए एंट्री को कुछ देर पर रोक कर दिया गया. इनके अलावा सीलमपुर, कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन को बंद किया गया. इन सभी स्टेशन पर एंट्री को रोका गया है, एग्जिट चालू है. 

दिल्ली में बढ़ती कोरोना की रफ्तार
दिल्ली में इस बार चली कोरोना की लहर ने हर रिकॉर्ड तोड़ दिया है. बीते दिन दर्ज किए गए 11491 मामले अबतक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. वहीं, 72 लोगों की मौत भी हुई है जो 5 दिसंबर के बाद सबसे ज्यादा संख्या है. 

दिल्ली में कोरोना की इस मार के बीच सीरो सर्वे भी चल रहा है, ताकि दिल्ली में कोरोना के प्रसार को जांचा जा सके. इस दौरान दिल्ली में कुल 28 हज़ार सैंपल लिए जाएंगे. ये अभी तक का छठा सीरो सर्वे है. 

बढ़ती समस्याओं के बीच दिल्ली सरकार लगातार फैसले ले रही है. सरकार की ओर से एक 24*7 वाली मॉनिटर सेल बनाई जा रही है, ताकि कोरोना मरीज़ों के हालात पर नज़र बनी रहे. ये सेल कोरोना मरीजों के परिवारों को मदद करेगी, ऑक्सीजन-ऑक्सीमीटर समेत अन्य ज़रूरतों के बारे में जानकारी देगी. 

राजधानी के अस्पतालों में बेड्स नहीं
21वीं सदी का भारत सबसे बड़ी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहा है और देश की राजधानी के अस्पतालों में बेड्स की कमी हो गई है. बीते दिन करीब 17 प्राइवेट अस्पतालों में एक भी बेड नहीं था. इस बीच दिल्ली सरकार ने 14 बड़े प्राइवेट अस्पतालों को पूर्ण रूप से कोविड स्पेशल घोषित कर दिया है, इनमें अपोलो जैसा अस्पताल भी शामिल है.  

दिल्ली में कोरोना का हाल
कुल केस: 7,36,688
 कुल मौत: 11,355
24 घंटे में आए केस: 11,491
 24 घंटे में हुई मौतें: 72
अबतक हुए कुल टेस्ट: 1.6 करोड़

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button