Live INDvsAUS 4th Test : ऑस्ट्रेलिया के लिए घातक साबित हुआ ‘यादव फैक्टर’

धर्मशाला: भारत और ऑस्‍ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच 4 टेस्‍ट मैचों की सीरीज का अंतिम मैच बेहद अहम हो गया है. फिलहाल सीरीज 1-1 की बराबरी पर है. ऐसे में धर्मशाला में खेला जा रहा चौथा टेस्ट निर्णायक है.
टीम इंडिया के लिए एक बुरी खबर यह रही कि कप्तान विराट कोहली इस मैच से चोट के कारण बाहर हो गए हैं. उनकी जगह अजिंक्य रहाणे टीम की कप्तानी संभाल रहे हैं. कंगारू कप्तान स्टीव स्मिथ ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग का फैसला किया है. ऑस्ट्रेलिया ने चायकाल तक 6 विकेट पर 208 रन बना लिए हैं. स्मिथ ने शानदार फॉर्म जारी रखते हुए 150 गेंदों में सीरीज का तीसरा शतक लगाया. डेविड वॉर्नर ने सीरीज की पहली फिफ्टी बनाई. उनको पहला टेस्ट खेल रहे कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) ने अपना पहला शिकार बनाया. वॉर्नर ने 56 रन बनाए. उन्होंने 72 गेंदों में फिफ्टी पूरी की थी. वॉर्नर को पारी की पहली ही गेंद पर जीवनदान भी मिला था. स्मिथ-वॉर्नर के बीच 134 रनों की साझेदरी हुई. कुलदीप यादव ने तीन विकेट, तो उमेश यादव ने दो-दो विकेट लिए हैं.

यादव ने वॉर्नर, पीटर हैंड्सकॉम्ब और ग्लेन मैक्सवेल को पैवेलियन की राह दिखाई है.लंच के बाद ऑस्ट्रेलिया ने पारी को एक विकेट पर 131 रन से आगे बढ़ाया. स्मिथ और वॉर्नर ने पहले सत्र जैसे ही तेज खेलना शुरू किया और टीम इंडिया विकेट की तलाश में थी. दूसरे के चौथे ओवर में कुलदीप यादव ने सीरीज में पहली फिफ्टी बनाकर खेल रहे डेविड वॉर्नर को चकमा देने में कामयाबी हसिल कर ली. वॉर्नर को अजिंक्य रहाणे ने स्लिप पर लपका. स्मिथ-वॉर्नर के बीच 134 रनों की साझेदारी हुई. इसके बाद उमेश यादव ने रांची टेस्ट में मैच बचाऊ पारी खेल चुके शॉन मार्श को चार रन पर ही चलता कर दिया. मार्श को कीपर ऋद्धिमान साहा ने कैच किया. कुलदीप ने खूबसूरत गेंदबाजी जारी रखी और उन्हें इसका फल पीटर हैंड्सकॉम्ब के रूप में मिला. हैंड्सकॉम्ब को उन्होंने बोल्ड किया. कुलदीप ने इसके बाद ग्लेन मैक्सवेल को भी आठ रन पर बोल्ड कर दिया. स्मिथ को 111 रन के निजी स्कोर पर आर अश्विन ने आउट किया.3 शतक लगाने वाले दूसरे कप्तान बने स्मिथ, 50+ को हर बार शतक में बदला

सीरीज में स्टीव स्मिथ का बल्ला जमकर बोल रहा है. इस सीरीज में यह उनका तीसरा शतक है. वह एलिस्टर कुक के बाद दूसरे विदेशी कप्तान बन गए हैं, जिसने किसी टेस्ट सीरीज में भारत में तीन शतक लगाए हैं. उन्होंने इस सीरीज में जब भी 50 का आंकड़ा पूरा किया है, तो उसे शतक में बदलने में कामयाब रहे हैं. धर्मशाला से पहले उन्होंने पुणे टेस्ट की दूसरी पारी में मैच जिताऊ शतक लगाया, तो रांची टेस्ट की पहली पारी में नाबाद 178 रन ठोके. स्मिथ ने अभ्यास मैच में शतक (109 रन) लगाया. इनके अलावा उन्होंने चार पारियों में 27, 8, 28 और 21 रन बनाए हैं. कप्तान के रूप में भारतीय धरती पर किसी सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने के मामले में स्मिथ छठे स्थान पर आ गए हैं. उन्होंने इस सीरीज में अब तक 470 से अधिक रन बना लिए हैं. उनसे ऊपर विंडीज के क्लाइव लॉयड (636 रन, साल 1974), ऑस्ट्रेलिया के किम ह्यूज (594 रन, साल 1979), इंग्लैंड के एलिस्टर कुक (562 रन, साल 2012), विंडीज के एल्विन कालीचरण (538), विंडीज के क्लाइव लॉयड (496 रन, 1983) हैं.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button