कानपुर की पांडु नदी में पांडु नदी में लगाई छलांग, दूसरे दिन मिला शव

कानपुर। जालौन के उरई में दस अगस्त को सामूहिक दुष्कर्म की शिकार एक पीडि़ता ने कल यहां नदी में छलांग लगा दी। आज पीडि़ता का शव मिलने से शहर में खलबली मच गई।कानपुर की पांडु नदी में पांडु नदी में लगाई छलांग, दूसरे दिन मिला शव

जालौन के उरई में दस अगस्त को घर में हुए सामूहिक दुष्कर्म से आहत पीडि़ता ने कल बर्रा के मेहरबान सिंह का पुरवा में पुल से पांडु नदी में छलांग लगा दी। गोताखोर खोजने में जुटे रहे लेकिन सफलता नहीं मिली। आज पीएसी के गोताखोरों को करीब आधा किलोमीटर दूर नदी में उसका शव मिला है। मूल रूप से जालौन निवासी किशोरी पांच दिन पहले तात्याटोपे नगर निवासी चाचा के घर पिता के साथ आई थी।

कल घर के दरवाजे पर बैठी किशोरी अचानक किसी को बिना बताए निकल गई। घर से कुछ दूर स्थित पांडु नदी में उसके छलांग लगाने पर लोगों ने शोर मचाया तो परिवार के लोगों को इस प्रकरण की जानकारी हुई। किशोरी के नदी में छलांग लगाने की सूचना पर पहुंची पुलिस ने उसकी तलाश शुरू कराई। बहाव इतना तेज था कि पुलिस लाइन से पहुंचे तीन गोताखोरों को नदी में उतरने से पहले कमर में रस्सी बांधनी पड़ी। काफी दूर तक तलाश की लेकिन किशोरी को नहीं ढूंढ पाए।

पुलिस ने कोहना और नवाबगंज से छह और गोताखोर बुलाए। सभी ने कई घंटे तलाश की पर देर शाम तक उनको सफलता नहीं मिली। देर शाम तक यहां नौ गोताखोर लगाकर उसकी तलाश शुरू कराई लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। बर्रा पुलिस के मुताबिक दस अगस्त को किशोरी के साथ दो युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। परिवार के लोगों ने इसके बाद उसे झांसी मेडिकल कालेज में भर्ती कराया था। पांच दिन पहले ही वह अस्पताल से यहां आई थी। इसके बाद किसी समय वह घर से बाहर निकल गई और पांडु नदी में छलांग लगा दी। जानकारी होते ही स्थानीय लोगों ने वहां पुलिस को सूचना दी।

आज सुबह सुबह दो नाव व पीएसी के गोताखोर लगाकर तलाश शुरू कराई गई। घटनास्थल से करीब आधा किमी दूर पुलिया के पास उसका शव गोताखोरों ने बरामद कर लिया। नदी से शव बाहर आते ही परिवार के लोगों में कोहराम मच गय। इंस्पेक्टर बर्रा रवि श्रीवास्तव ने बताया कि नदी में डूबी किशोरी की तलाश में 15 गोताखोर लगाए गए थे। दुष्कर्म की घटना से आहत होकर किशोरी के यह कदम उठाने की बात पता चली है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

‘आयुष्मान भारत’ का शुभारंभ करते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दिया कुछ ऐसा बयान…

गरीबों को पांच लाख रुपये तक के मुफ्त