कांग्रेस के इस बड़े नेता को अपने पार्टी के नेता से हुआ खतरा, दिया ये बयान

चंडीगढ़। मोगा जिले के बाघापुराना विधानसभा हलके के कांग्रेसी विधायक दर्शन सिंह बराड़ को अपनी ही पार्टी के नेता से जान का खतरा है। उन्होंने जिला कांग्रेस की प्रधान की पद की दौड़ में शामिल महेश इंदर सिंह पर आरोप लगाया है कि वह गैंगस्टरों के साथ मिलकर उनकी हत्या करने की साजिश रच रहे हैं। बराड़ ने इस संबंध में डीजीपी से मुलाकात कर अपनी सुरक्षा बढ़ाने की मांग की है। बराड़ का कहना है कि क्योंकि वह दोनों  एक ही हलके से हैं, इसलिए उनके बीच 1985 से ही राजनीतिक लड़ाई चली आ रही है।कांग्रेस के इस बड़े नेता को अपने पार्टी के नेता से हुआ खतरा, दिया ये बयान

महेश इंदर सिंह पूर्व अकाली विधायक रह चुके हैं और उन्होंने 2016 में कांग्रेस ज्वाइन कर ली थी। वो टिकट की दौड़ में भी शामिल थे। महेश इंदर सिंह इस समय मोगा जिले के जिला प्रधान की दौड़ में शामिल हैं। वहीं दर्शन सिंह बराड़ का कहना है कि वह इस मामले को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के समक्ष भी उठाने जा रहे हैं।

बराड़ ने गत दिवस मुख्यमंत्री से मिलना था, लेकिन मुख्यमंत्री की व्यस्तता के कारण बराड़ की मुलाकात हो नहीं पाई है। वहीं, बराड़ ने सीबीआइ या विजिलेंस जांच की भी मांग की है। बराड़ ने इस बात से इन्कार किया है कि महेश इंदर सिंह ने उन्हें सीधे रूप से मारने की कोई धमकी दी है, बल्कि उन्होंने यह कहा है कि कुछ गैंगस्टर सोशल मीडिया पर उन्हें मारने की बात कह रहे हैं।

गैंगस्टर ने सोशल मीडिया पर अपलोड किया वीडियो

गैंगस्टर नवतेज भोला ने वीडियो वायरल  महेशइंद्र सिंह पर सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। वीडियो में गैंगस्टर ने कहा कि महेशइंद्र बाघापुराना के मौजूदा कांग्रेस विधायक दर्शन सिंह बराड़ और एक अन्य नेता का गैंगस्टरों से कत्ल करवाना चाहते थे। नवतेज भोला गैंगस्टर सूची में शामिल है और उसके खिलाफ करीब 8 केस दर्ज थे। वहीं कई मामलों में सबूतों के अभाव में वह बरी भी हो चुका है। गैंगस्टर भोला ने कहा कि महेश इंदर के बेटे धर्मपाल सिंह के गैंगस्टरों से गहरे संबंध हैं। बठिंडा पुलिस के साथ हुए एनकाउंटर में मारे गए खतरनाक गैंगस्टर दविंदर बंबीहा का भी इनके घर आना जाना था। महेश इदर बंबीहा को एक वारदात के बाद खुद कहीं छोड़कर आए थे।

मेरा लाई डिटेक्टर टेस्ट करवा लें बराड़

महेश इंदरमहेश इंदर सिंह का कहना है कि बराड़ केवल राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं मुख्यमंत्री और डीजीपी से मिल चुका हूं और मैंने इसकी जांच करवाने व अपना लाई डिटेक्टर टेस्ट करवाने की भी मांग रखी है। महेश इंदर ने कहा कि हैरानीजनक बात है कि पांच साल पहले जब मैं अकाली दल का विधायक था, तब तो बराड़ ने ऐसे आरोप नहीं लगाए। आज वह ऐसे आरोप लगा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के