आइजीआइएमएस के मेडिकल सुपरिटेंडेंट मनीष मंडल ने कहा कि अभी केवल जांच हुई है। किसी तरह की दवा नहीं दी गई है। रिम्स में जो दवाएं जी जा रही थी, अभी उसे ही जारी रखने को कहा गया है। जांच रिपोर्ट के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। लालू के पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक सुबह सोकर उठने के बाद लालू प्रसाद को बेचैनी, सीने में दर्द और चक्कर जैसा महसूस हुआ। इसके बाद फैमिली डॉक्टर एसके सिन्हा को बुलाकर उन्हें दिखाया गया। सिन्हा ने पाया कि उनका शुगर बढ़ा हुआ है, जिसके बाद उन्हें आइजीआइएमएस में भर्ती कराने का निर्णय लिया गया है।

लालू को बेहतर इलाज के लिए मंगलवार को मुंबई जाना है, जहां वे हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. पांड्या से इलाज कराएंगे। राजद प्रमुख की तीन साल पहले एशियन हॉर्ट इंस्टीट्यूट में ही बाइपास सर्जरी हुई थी। राजद के राष्ट्रीय महासचिव एवं लालू के करीबी विधायक भोला यादव के मुताबिक डॉ. पांड्या से अप्वाइंटमेंट ले लिया गया है।

लालू को कई बीमारियां 

विधायक भोला यादव के मुताबिक लालू को कई तरह की बीमारियां हैं। एम्स की रिपोर्ट के मुताबिक लालू की किडनी 60 फीसद डैमेज हो चुकी है। हार्ट, शुगर, बैक पेन, चक्कर आना जैसी अन्य बीमारियां भी हैं। सबका इलाज बारी-बारी से होगा। लालू को रांची से पटना में लाकर बाहर के डॉक्टरों से अप्वाइंटमेंट लेने की कोशिश की जा रही थी। हाईकोर्ट से जमानत सिर्फ इलाज के लिए मिली है।