कुमारस्वामी का बयान, बोले- लोकसभा चुनाव तक मुझे कोई हिला भी नहीं सकताः

- in राष्ट्रीय

कांग्रेस को आंखें दिखाते हुए कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने कहा है कि लोकसभा चुनाव तक मुझे कोई हिला भी नहीं सकता। मेरे पास एक साल का समय है और इसका सदुपयोग राज्य के हित में होगा। गठबंधन की कर्नाटक सरकार जुलाई में अपना बजट पेश करेगी। रोचक तथ्य है कि कर्नाटक के सीएम रहे सिद्दरमैया राज्य का बजट पेश कर चुके हैं। सरकार का यह कदम कांग्रेस को रास नहीं आएगा।

एक समारोह में कुमारस्वामी ने अपने तीखे तेवर दिखाए और साफ कर दिया कि चिंता मत करो। उनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। सीएम का यह भी कहना था कि जल्द ही वह किसानों के लिए कर्जा माफी योजना की घोषणा करेंगे। इसके लिए समग्र तरीके से तैयारी चल रही है। सभी पहलुओं का अध्ययन करके किसानों को राहत दी जाएगी। 15 दिनों में किसानों के लिए ऋण माफी योजना तैयार कर ली जाएगी।

उनका कहना था कि एक साल के समय को वह यूं ही व्यर्थ नहीं करेंगे। इस दौरान राज्य के हितों के लिए काम करेंगे। उनका कहना था कि वह परवाह नहीं कर रहे कि दूसरों ने क्या किया। उनकी चिंता केवल इस बात की है कि वह क्या करने वाले हैं। कुमारस्वामी का वक्तव्य इस लिहाज से महत्वपूर्ण है कि गठबंधन सरकार शुरू से ही तल्ख माहौल में बनी है। पहले मंत्रालयों का बंटवारा और फिर कांग्रेस विधायकों की नाराजगी से साफ है कि सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है।

जम्मू-कश्मीर में ईद की नमाज के बाद पत्थरबाजी, पाकिस्तानी गोलाबारी से जवान शहीद

जाहिर है कि सीएम के तेवर कांग्रेस के लिए परेशानी खड़ी करने वाले हैं। सीएम का यह भी कहना था कि कुछ लोगों को उनका फिर से बजट पेश करना परेशान करेगा। वह सोचते हैं कि सीएम नाम के लिए ऐसा कर रहे हैं, लेकिन उन्हें किसी की परवाह नहीं है। वह कर्नाटक व इसके बाशिंदों के लिए खुलकर फैसले लेंगे। गौरतलब है कि 21 मई को हुए चुनाव में कर्नाटक में किसी को बहुमत हासिल नहीं हो सका था। कांग्रेस और जेडी (एस) ने एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ा था। अलबत्ता बाद में दोनों एक साथ आ गए और सरकार का गठन कर दिया।

न्यूनतम साझा कार्यक्रम तय करने को बनी ड्राफ्टिंग कमेटी

कर्नाटक में गठबंधन सरकार के लिए न्यूनतम साझा कार्यक्रम तय करने को कमेटी बना दी गई है। इसमें पांच सदस्य होंगे। कांग्रेस की तरफ से पूर्व मुख्यमंत्री वीरप्पा मोइली, राजस्व मंत्री आरवी देशपांडे व जलसंसाधन मंत्री डी शिवकुमार शामिल हैं। जबकि जेडी (एस) की तरफ से पीडब्ल्यूडी मंत्री एचडी रेवन्ना व आइएएस अफसर रहे एस सुब्रमण्या शामिल हैं। ध्यान रहे कि गुरुवार को कांग्रेस-जेडी (एस) गठबंधन की समन्वय समिति की बैठक हुई थी। इसमें यह तय किया गया था कि न्यूनतम साझा कार्यक्रम तय करने के लिए ड्राफ्टिंग कमेटी बने। समन्वय समिति के संयोजक दानिश अली ने बताया कि इसमें पांच सदस्य होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सड़क पर चलना हो जाएगा महंगा, पेट्रोल के बाद 14% तक चढ़ सकते हैं CNG के दाम!

सड़क पर चलने वालों के लिए बुरी खबर है.