जानिए मकर संक्रांति के दिन कौन से अन्न का दान करने से मिलेगा कैसा फल

- in धर्म

मकर संक्रांति हिन्दुओं का पर्व है। पूरे देश में मकर संक्रांति बड़ी ही धूमधाम से मनाई जाती है। पौष मास में जब सूर्य मकर राशि पर आता है तभी इस पर्व को मनाया जाता है। मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन किए गए दान का फल जरूर मिलता है, इतना ही नहीं कहते तो ये भी हैं कि इन दिन किए गए दान का पुण्य सौ गुणा होकर दानदाता को वापस भी मिलता। वैसे तो संक्रांति के दिन तिल दान का विशेष महत्व है। लेकिन ज्योतिषियों की मानें तो कई प्रकार के अन्न भी हैं जिनके दान से पुण्य की प्राप्ति होती है। वहीं ज्योतिष ये भी कहते हैं कि इस दिन किसी विशेष अन्न के दान से कोई विशेष ग्रह मजबूत होता है और आपको उसका लाभ मिलता है। तो आइए जानते हैं कि किस अन्न के दान से मिलता है कौन सा लाभ।

1. जौ और तिल

मकर संक्रांति वाले दिन तिल के दान का तो अपना विशेष महत्व होता है। वहीं इस दिन जौ का दान भी शुभ माना जाता है। जौ और तिल दोनों ही अन्न खुशहाल जीवन के प्रतीक क हैं। जौ का संबंध शुक्र से है और तिल का शनि से। जौ और तिल, इन दोनों अन्न के दान से घर में खुशहाली आती है। आप जितनी मेहनत करते हैं, आपको उसका पूरा फल भी मिलता है। घर में कभी भी किसी भी प्रकार का अभाव नहीं रहता है और जीवन में कभी नीरसता नहीं रहती है।

2. गेहूं और चना

गेहूं और चना ये दोनों ही अनाज मजबूती और दृढ़ता के प्रतीक हैं। गेहूं का संबंध सूर्य से है और चना का संबंध गुरु यानि की वृहस्पति से होता है। ऐसे में अगर आपके घर, नौकरी या व्यापार में अस्थिरता बनी रहती है तो आप इस मकर संक्रांति को गेहूं और चना का दान जरूर करें। इस दिन गेहूं और चना का दान करने से घर, नौकरी और व्यापार में स्थिरता आती है। साथ ही साथ भूमि और संतान लाभ भी होता है। बहुत कम लोगों को ही ये मालूम होता है, इसलिए कम ही लोग मकर संक्रांति वाले दिन गेहूं और चना का दान करते हैं।

3. चावल और मूंग

चावल और मूंग ये दोनों ही अन्न सही मार्ग, रिश्तों और धन के प्रतीक हैं। चावल चन्द्रमा से संबंधित है और मूंग का संबंध बुध से है। धन लाभ पाने के लिए चावल और मूंग का दान मकर संक्रांति के दिन जरूर करें। इसके साथ ही चावल और मूंग के दान से व्यक्ति कभी मार्ग नहीं भटकते हैं और हमेशा सही दिशा में चलते हैं। इस दिन चावल और मूंग का दान आपको बदनामी, गलत लोगों और गलत कामों से भी बचाता है.

4. कंगनी

कंगनी जिसे हम अंग्रेजी में Foxtail Millet भी कहते हैं। मकर संक्रांति वाले दिन कंगनी का दान जरूर करें। कंगनी का दान आपको बिमारियों से दूर रखता है। हालांकि कंगनी का संबंध मंगल और शुक्र से होता है इसलिए संक्रांति वाले दिन इसके दान से घर के सभी रिश्तों में मधुरता बनी रहती है। किसी भी रिश्ते में तनाव नहीं आता। कंगनी टूटते संबंधों, माहौल और बिमारियों पर असरदार होता है।

Patanjali Advertisement Campaign

You may also like

आज का राशिफल और पंचांग: 19 अगस्त दिन रविवार, इन राशि वालों के साथ होने सकता है ऐसा

।।आज का पञ्चाङ्ग।। आप सभी का मंगल हो