जानिए क्या हैं फिटकरी का ये 2 सेकंड का राज…

- in धर्म

अक्सर हम देखते हैं की हमारे जीवन में सबकुछ अच्छा चल रहा होता हैं परंतु अचानक से सबकुछ बुरा होने लगता हैं| हमें समझ नहीं आता की आखिर हो क्या रहा हैं? यदि आपके साथ ऐसा हो रहा हैं तो इसका मतलब आप पर किसी की बुरी नजर लग गयी हैं| जब हम ज्यादा खुश रहते हैं या फिर हमारा परिवार सुखी पूर्वक रहता हैं तो ऐसे में कुछ लोग ऐसे होते हैं| जिनसे ये सब देखा नहीं जाता और वो आपका बुरा सोचते हैं|जानिए क्या हैं फिटकरी का ये 2 सेकंड का राज...

ऐसे में उनकी कुदृष्टि आपके जीवन पर पढ़ जाती हैं और आप परेशान रहने लगते हैं| इसी को हम बुरी नजर या काली शक्ति कहते हैं| हम बुरी नजर से अपने घर, दुकान या गाड़ियों इत्यादि को बचाने के लिए नींबू और मिर्च टाँगते हैं ताकि हमारा घर बुरी नजरों से बचा रहे| यदि आप अपने घर को या अपने आप को बुरी नजर से बचाना चाहते हैं तो फिटकरी का ये सरल सा उपाय जरूर करे..

(1) जिस व्यक्ति को भी नजर लगी हैं उसे हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए| घर में साफ-सफाई का ध्यान रखें| जिस भी व्यक्ति को नजर लगी हैं उससे प्रेमपूर्वक बात करें|

(2) जिस भी मनुष्य पर विधि करनी हैं उसको हनुमान जी के चरणो में नतमस्तक होकर बोलना हैं की जिस भी मनुष्य ने आप पर कुदृष्टि डाली हैं उस पर इस विधि का कोई दुष्प्रभाव ना पड़े|

(3) बुरी शक्तियों के कष्ट से पीड़ित व्यक्ति जिस पर विधि की जानी है, उसे कम ऊंचाईवाले लकड़ी के पीढ़े पर पूर्व की दिशा में मुंह कर, घुटने मोड़कर छाती से सटाकर बैठना चाहिए। हथेली घुटने पर ऊपर की दिशा में रखना चाहिए।

(4) बुरी शक्तियों के कष्ट से पीड़ित व्यक्ति के सामने खड़े हो जाएं। बेर के आकार का एक-एक फिटकिरी का टुकड़ा दोनो हाथों में ले लें| इसके पश्चात उंगलियों को मोड़कर मुट्ठी बना लें तथा अपने शरीर के सामने मुट्ठी को एक-दूसरे के ऊपर रखें। मुट्ठियों को एक-दूसरे के ऊपर गुणा के चिन्ह के समान रखें।

इसके उपरांत मुट्ठी को बुरी शक्तियों के कष्ट से पीड़ित व्यक्ति के शरीर से पैर तक विपरीत दिशा में ले जाएं तथा भूमि को स्पर्श करें । जैसे ही हम विधि करना आरंभ करें हाथों को अलग कर लें और साथ ही दाहिनी मुट्ठी को घड़ी की सुइयों की दिशा में सिर से पैर तक तथा बाईं मुट्ठी को घड़ी की सुइयों के विपरीत दिशा में सिर से पैर तक घुमाएं। जैसे ही सबसे नीचे पहुंचे मुट्ठी से भूमि को स्पर्श करें।

(5) फिटकरी की विधि करते हुए यह वाक्य बोलें- “आने–जाने वाले की, आत्माओं, वृक्षों, पथिकों, स्थानों की कुदृष्टि लगी हो, तो वह दूर हो जाए और रोग तथा आघात से इसकी रक्षा करें।”

(6) विधि करने के बाद फिटकरी के टुकड़े को सिगड़ी अथवा जलते हुए कोयले पर डालें। यदि फिटकरी बिना कोई आकार लिए पूरी जलकर ढेर हो जाए तो इसका अर्थ है कोई समस्या नहीं है। यदि फिटकरी बिना कोई आकार लिए लंबे समय तक जलती रहे तो इसका अर्थ है कि कष्ट देने वाली बुरी शक्ति बहुत शक्तिशाली है।

यदि फिटकरी किसी प्राणी अथवा पक्षी का आकार ले ले तो इसका मतलब है कि बुरी शक्ति व्यक्ति को किसी प्राणी अथवा पक्षी के माध्यम से पीड़ा दे रही है। कभी-कभी होता हैं की यदि फिटकिरी जलकर एक खोपड़ी का आकार ले ले तो इसका अर्थ है कि निम्न स्तर की तीव्र इच्छावाली बुरी शक्ति व्यक्ति को पीड़ित कर रही है ।

(7) कभी भी यह विधि किसी बच्चे से ना करवाएँ बल्कि घर के बड़े-बुजुर्ग से करवाएँ|

(8) विधि करने के बाद शेष सामग्री को एक प्लास्टिक की थैली में बंद करके कचरे में फेंक दें। कचरे में फेंकने से पहले हनुमानजी से प्रार्थना करें कि हे हनुमानजी, इसमें विद्यमान बुरी शक्ति को नष्ट कर दीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

भाग्यशाली स्त्रियों के शुभ लक्षण का निशान देखकर, आपको बिलकुल भी नहीं होगा यकीन…

कहते है की जो स्त्रियों होती है हमारे