मुख्य सचिव से मारपीट मामले में केजरीवाल के PA से पुलिस ने की पूछताछ

- in दिल्ली, राजनीति

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पीए विभव से पुलिस ने पूछताछ की है. दिल्ली पुलिस की यह पूछताछ करीब एक घंटे तक चली.मुख्य सचिव से मारपीट मामले में केजरीवाल के PA से पुलिस ने की पूछताछ

पुलिस ने विभव को यह जानने के लिए बुलाया था कि क्या सीएम हाउस में लगे सीसीटीवी कैमरे करीब 40 मिनट पीछे चल रहे थे? क्या छह कैमरों की रिकॉर्डिंग एक साल से नहीं हो रही थी? दरअसल, सीएम हाउस में लगे सीसीटीवी की FSL रिपोर्ट में यह बात सामने आई थी कि ये कैमरे करीब 40 मिनट पीछे चल रहे थे.

पुलिस ने PWD के अफसरों से भी पूछताछ की. उनसे सवाल किया गया कि क्या सीएम हाउस में कैमरे खराब होने की शिकायत आई थी? अगर आई थी, तो इसको दुरुस्त क्यों नहीं किया गया? पुलिस का कहना है कि सीएम के पीए ने मामले में कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया है.

इससे पहले दिल्ली पुलिस मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से भी पूछताछ कर चुकी है. दिल्ली पुलिस की टीम ने केजरीवाल से तीन घंटे में 150 सवाल पूछे थे.

पूछताछ खत्म होने के साथ ही केजरीवाल ने फौरन एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा कि दिल्ली में आप की बढ़ती लोकप्रियता तेजी से बढ़ रही है. केंद्र की बीजेपी सरकार इस काम को रोकना चाहती है. इसलिए LG और दिल्ली पुलिस हमारे पीछे छोड़ा हुआ है.

वहीं, दिल्ली पुलिस मुख्य सचिव के साथ मारपीट मामले में केजरीवाल और सिसोदिया के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने की तैयारी में है. पुलिस केजरीवाल और सिसोदिया के अलावा अन्य 11 नेताओं के खिलाफ भी चार्जशीट दायर करेगी.

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने अपनी चार्जशीट में मुख्यमंत्री केजरीवाल को वरिष्ठ आईएएस अंशु प्रकाश के खिलाफ आपराधिक षड्यंत्र रचने का आरोपी बनाया है. दिल्ली पुलिस के एक सीनियर पुलिस अफसर ने बताया कि अगले महीने केजरीवाल और सिसोदिया के खिलाफ तीस हजारी कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी.

क्या है मामला

19 फरवरी 2018 को दिल्ली सरकार के तत्कालीन मुख्य सचिव अंशु प्रकाश को राशन कार्ड और अन्य मामलों के बारे में बातचीत के लिए मुख्यमंत्री आवास पर बुलाया गया था. अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया कि इस दौरान केजरीवाल के सामने ही आम आदमी पार्टी के विधायकों ने उनके साथ मारपीट की थी.

मेडिकल रिपोर्ट में मुख्य सचिव से मारपीट की पुष्टि होने के बाद पुलिस ने मामला दर्जकर जांच शुरू कर दी. मामले के बाद अंशु प्रकाश ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. हालांकि आम आदमी पार्टी इन आरोपों को शुरुआत से खारिज करती रही है.

सम्बंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मध्यप्रदेश चुनाव : कल भाजपा आयोजित करेगी ‘कार्यकर्ता महाकुंभ’, PM मोदी समेत कई बड़े नेता होंगे शामिल

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव तेजी से नजदीक आ