AAP में बढ़ा संग्राम, अब इस नेता से सीधे भिड़े केजरीवाल

चंडीगढ़/नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) में टकराव कम होने के बजाय बढ़ता ही जा रहा है। पंजाब के आप नेता सुखपाल खैहरा और उनके समर्थक विधायकों से मुलाकात के बाद आप के केंद्रीय नेतृत्व के तेवर और सख्‍त हो गए हैं। अरविंद केजरीवाल ने साफ कर दिया है कि अब पंजाब में विधायक दल का नेता नहीं बदलेगा। हरपाल सिंह चीमा को नेता प्रतिपक्ष के पद से नहीं हटाया जाएगा। दूसरी ओर, खैहरा समर्थक विधायक भी आर-पार की लड़ाई के मूड में हैं। कंवर संधू ने दावा किया है कि उनके साथ पार्टी के 20 में से अभी 13 विधाय‍क हैं। पार्टी के नाराज विधायकों ने 2 अगस्त को बठिंडा में सम्मेलन बुलाया है।AAP में बढ़ा संग्राम, अब इस नेता से सीधे भिड़े केजरीवाल

पार्टी नेतृत्व के बुलावे पर रविवार रात दिल्ली आए पंजाब से आप विधायक कंवर संधू ने बताया, ‘कुल 13 विधायक दिल्ली में हैं। पांच पहले से ही वहां मौजूद थे और आठ उनके साथ आए। पार्टी नेतृत्व पंजाब को अपने तरीके से चलाना चाहता है, मगर हम उन्हें बता चुके हैं कि पंजाब हमारे तरीके से ही चलेगा।’

यह पूछे जाने पर कि क्यों पार्टी में आए दिन विवाद बढ़ रहा है, कंवर संधू ने कहा, ‘हमें लगता है कि सही बातें पार्टी नेतृत्व तक नहीं पहुंच पा रही हैं। सिसोदिया ने 2 तारीख का सम्मेलन रद करने के लिए कहा है। मगर हमने उन्हें बता दिया है कि सम्मेलन तो होगा। यह कार्यकर्ताओं की भावनाओं से जुड़ा है। इसमें पार्टी के 20 में से 13 विधायक शामिल होंगे। अगले एक-दो सप्ताह में ही पंजाब को लेकर बड़ी खबर भी मिलेगी।’

बता दें कि पंजाब आप में बढ़ते विवाद को देखते हुए पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कमान खुद संभाल ली है। उन्होंने कहा, ‘पार्टी ने जो फैसला लिया है, वह उसी पर कायम रहेगी। यदि कोई दूसरा इसमें हस्तक्षेप करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।’ केजरीवाल ने बैंस बंधुओं के पंजाब में नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा को लेकर किए गए ट्वीट के जवाब में कहा कि बैंस बंधुओं की दलित समाज के प्रति घटिया सोच है, यह बेहद शर्मनाक है। बैंस पूरे दलित समाज से माफी मांगें। भाजपा, कांग्रेस, अकाली दल और बैंस की पूरे दलित समाज के प्रति ऐसी ही गंदी सोच है। ये लोग दलित समाज पर हमेशा जुर्म करते आए हैं। इसी सोच के खिलाफ आप ने दलित को पंजाब विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बनाया है।

लोक इंसाफ पार्टी के प्रमुख सिमरजीत सिंह बैंस ने पलटवार करते हुए कहा कि केजरीवाल समाज को बांटने का काम कर रहे हैं। उनसे ऐसी गिरी हुई हरकत की उम्मीद नहीं थी।  इससे पहले रविवार रात मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा था कि आप ने पंजाब में हरपाल चीमा को नेता प्रतिपक्ष बनाकर दलित समाज को सम्मान और हक दिया है।

पंजाब जा सकते हैं सिसोदिया

पार्टी सूत्रों अनुसार आने वाले दिनों में मनीष सिसोदिया पंजाब जाकर स्थिति को संभालने के लिए बैठक कर सकते हैं। जरूरत पड़ी तो केजरीवाल भी पंजाब जाकर इस दिशा में काम करेंगे। आगामी लोकसभा चुनाव में आप को पंजाब से काफी उम्मीद है। पिछले लोस चुनावों में पार्टी का खाता भी पंजाब से ही खुला था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूपी: बहराइच में अब तक 70 से अधिक बच्चों की मौत, देखने पहुंचे डॉ. कफील खान अरेस्ट

उत्तर प्रदेश के बहराइच में संक्रमण के साथ