AAP के ये बड़े नेता छोड़ रहे हैं केजरीवाल का साथ, बिखर सकती है पार्टी

नई दिल्ली। कहावत है कि मजबूत दुश्मन से लड़ने के लिए आप को और भी मजबूत होना पड़ता है। लोकसभा चुनाव सिर पर है मगर आम आदमी पार्टी (आप) इससे उलट और कमजोर होती जा रही है। पंजाब में विद्रोह से लेकर दिल्ली तक में ‘आप’ के लिए शुभ संकेत नहीं हैं। पंजाब में ‘आप’ के 20 विधायकों में से लगभग आधे विद्रोह की मुद्रा में हैं। चार में से दो सांसद पार्टी के साथ नहीं हैं।AAP के ये बड़े नेता छोड़ रहे हैं केजरीवाल का साथ, बिखर सकती है पार्टी

बिखर रही है ‘आप’ की मजबूत टीम 

दिल्ली में भी कुछ विधायक असंतुष्ट हैं। दो दिन पहले ही एक और पूर्व मंत्री संदीप कुमार ने ‘आप’ सरकार के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है। पार्टी की नीतियों से नाराज होकर पुराने और विश्वासी कार्यकर्ता घर बैठ गए हैं।अब आशुतोष के इस्तीफे से लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी ‘आप’ को करारा झटका लगा है। इससे कार्यकर्ताओं में भी मायूसी है। हालांकि ‘आप’ ने लोकसभा की सभी सीटों पर चुनाव न लड़कर इस बार केवल एक सौ सीटों पर ही चुनाव लड़ने की योजना बनाई है। मगर इन सीटों के चुनाव प्रचार के लिए भी पार्टी को एक मजबूत प्रचार तंत्र की जरूरत होगी। ऐसे में पार्टी की प्रचार करने वाली मजबूत टीम बिखर रही है।

‘आप’ को लगे कई झटके 

‘आप’ ने कई मजबूत प्रचारक खो दिए हैं। यह संख्या लगातार कम होती जा रही है जो ‘आप’ के लिए बेहद चिंता का विषय है। मगर ‘आप’ यह समझने के लिए तैयार नहीं है कि आखिर गलती कहां है? क्या खामियां हैं जिनके चलते ‘आप’ कमजोर होती जा रही है।

केजरीवाल का साथ छोड़ने वाले नेताओं के नाम

आम आदमी पार्टी के कई संस्थापक सदस्य बीते पांच वर्षों में पार्टी छोड़ चुके हैं। इनमें वरिष्ठ वकील शांति भूषण, प्रशांत भूषण, पूर्व जस्टिस संतोष हेगड़े, योगेंद्र यादव, मेधा पाटकर, अखिल गोगोई, प्रो. आनंद कुमार, मयंक गांधी, विधायक कपिल मिश्रा आदि प्रमुख हैं।

कुमार विश्वास हाशिए पर हैं

पार्टी के नेता आशीष खेतान ‘आप’ सरकार के दिल्ली संवाद आयोग के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर वकालत के अपने काम में लग गए हैं। प्रखर वक्ता कुमार विश्वास पार्टी में हाशिए पर हैं। वह अब केवल पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य रह गए हैं। प्रशांत भूषण, योगेंद्र यादव, आशीष तलवार के साथ-साथ आशुतोष पार्टी के थिंक टैंक नेताओं में शामिल थे। अब यह लाइन भी टूट चुकी है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पेट्रोल की बढ़ी कीमतों को लेकर पैदल मार्च कर रहे कांग्रेसी आपस में भिड़े

कानपुर : डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की