दिल्ली की केजरीवाल सरकार कोरोना से मरने वालों की संख्या छिपा रही: कांग्रेस नेता अजय माकन

दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्या काफी तेजी से बढ़ रही है. प्रत्येक दिन 1000 से ज्यादा नए केस आ रहे हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 17,000 के पार हो गई है.

दिल्ली सरकार के आंकड़ों के मुताबिक अब तक इस वायरस से मरने वाले मरीजों की संख्या 398 है. लेकिन कांग्रेस नेता अजय माकन इन आंकड़ों को गलत बता रहे हैं.

उनके मुताबिक अब तक हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. अजय माकन ने अपने ट्विटर हैंडल पर इस संबंध में एक डेटा जारी करते हुए केजरीवाल सरकार के आंकड़ों को गलत बताया है.

उन्होंने लिखा, ‘कल रात तक दिल्ली में 1036 का दाह संस्कार कोविड प्रोटोकॉल से हुआ है. परंतु मृत्यु का सरकारी आंकड़ा 392 है.

असलियत- निगम बोध-439, पंजाबी बाग-389, आईटीओ-164, मंगोल पुरी-22, बुलंद मस्जिद-22. देर रात को- ताकि कोई अखबार न छाप सके. चुपके-चुपके जो जानकारी AAP दे रही, वो भी आधी-अधूरी है.’

यानी अजय माकन की मानें तो केजरीवाल सरकार कोरोना से मरने वालों की संख्या को छिपा रही है और लोगों तक गलत जानकारी पहुंचा रही है. माकन यहीं नहीं रुके.

उन्होंने केजरीवाल सरकार पर विज्ञापन के नाम पर राज्य का बजट बर्बाद करने का भी आरोप लगाया है.

कांग्रेस नेता ने अपने ट्वीट में केजरीवाल सरकार से पूछा है कि 13 अप्रैल को काफी धूमधाम से प्रस्तावित 60 जापानी सैनिटाइजेशन मशीनें लॉन्च की गई थीं, वो कहां हैं?माकन ने लिखा, ‘छह सालों तक मैं शीला जी के कैबिनेट में संसदीय सचिव और दिल्ली विधानसभा का स्पीकर रहा.

कहां हैं वो 60 प्रस्तावित जापानी सैनिटाइजेशन मशीन, जिसे आम आदमी पार्टी की सरकार ने 13 अप्रैल को काफी धूमधाम से लॉन्च किया था?’

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के मृतकों की सूची में 82 नए नाम जोड़े गए हैं. इनमें से 69 मौत के मामले को सूची में देर से जोड़ा गया है.

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि शुक्रवार को 13 लोगों की मौत हुई है जबकि पिछले 34 दिन में बाकी 69 मौतें हुई हैं और इस सूची में इस संख्या को देर से शामिल किया गया है.

सिसोदिया ने कहा कि घबराने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि दिल्ली में स्वस्थ होने का प्रतिशत करीब 50 फीसदी तक है.

उन्होंने कहा कि जब तक लोगों में संक्रमण के लक्षण नहीं दिखते हैं तब तक अस्पताल आने की कोई जरूरत नहीं है और ऐसे करीब 80-90 फीसदी मरीज घर में ही आइसोलेशन में रहकर स्वस्थ हुए हैं.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि दिल्ली में अब तक 398 लोगों की मौत हो चुकी है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि देर से मौत की सूची में शामिल जो नए मामले हैं उनमें से 52 लोगों की मौत सफदरजंग अस्पताल में हुई है.

दिल्ली में संक्रमण के 1,106 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 17,000 के पार हो गई है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button