एमपी में चढ़ा सियासी पारा, शिवराज सिंह ने राहुल गांधी पर किया वार, तो कमलनाथ ने दिया जवाब

सियासी बयानबाजी बढ़ने के साथ ही प्रदेश में चुनावी सरगर्मियां तेज होने लगी हैं। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोशल मीडिया पर कांग्रेस अध्यक्ष पर निशाना साधा तो प्रदेश कांग्रेस के नए अध्यक्ष कमलनाथ ने भी धारधार पलटवार किया।

मुख्यमंत्री चौहान ने ट्वीट कर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा कि कुछ लोग 15 साल भी लगातार बोले तो भी उनके अलावा किसी को कुछ समझ नहीं आएगा। चौहान के बयान पर पलटवार करते हुए कमलनाथ ने कहा कि मध्य प्रदेश आज इसी हालत से गुजर रहा है। शिवराज सिंह चौहान पिछले 13 सालों से वही रटा रटाया बोल रहे हैं, जो किसी को समझ में नहीं आता और जमीन पर कुछ दिखाई भी नहीं देता।

गौरतलब है कि प्रदेश भाजपा के नेताओं द्वारा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के खिलाफ बयानबाजी राहुल के पीएम मोदी पर दिए गए बयान और फिर मोदी के पलटवार के बाद शुरू हुई है। राहुल गांधी ने कहा था कि उन्हें संसद में 15 मिनट बोलने का समय दिया जाए तो पीएम मोदी उनके सामने खड़े नहीं रह पाएंगे। इस पर पलटवार करते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि राहुल गांधी बिना लिखा हुआ 15 मिनट बोलकर दिखाएं, चाहें तो अपनी मां की मातृभाषा में ही बोलें।

राहुल और पीएम के बीच हुए इस आरोप-प्रत्यारोप के बाद भाजपा के बड़े नेताओं ने राहुल गांधी को निशाना बनाना शुरू किया।
भाजपा हटाओ-मध्यप्रदेश बचाओ

कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि राज्य में हर कांग्रेसी कार्यकर्ता ‘भाजपा हटाओ-मध्यप्रदेश बचाओ’ के नारे के साथ अपने इलाके के लोगों के बीच जाएं और पूरी ताकत से जुट जाएं। उन्होंने कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे भाजपा की जनविरोधी नीतियों और वादा खिलाफी को जनता के बीच ले कर जाएं और शिवराज के कुशासन से प्रदेश की जनता को मुक्ति दिलाने का अभियान चलाएं।

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद और लीगल सेल के सदस्य विवेक तन्खा ने सीएम चौहान के राहुल के खिलाफ दिए बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा, “मैं पीएम की डिग्री की तलाश कर रहा हूं। आरटीआई में भी जानकारी नहीं मिल रही है।”

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के प्रदेश दौरे के बारे में उन्होंने कहा कि भाजपा का मध्यप्रदेश में हारना तय है। इसलिए भाजपा को मजबूत नीति बनाने की जरूरत है।

=>
=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

योगी के दुलारे अफसर ही उनकी फजीहत कराने में जुटे

लखनऊ। योगी सरकार के दुलारे अफसर सरकार की